Tuesday , October 17 2017
Home / India / जना ग़ना मना गाने के ज़रीये गिनीज़ रिकार्ड का क़ियाम

जना ग़ना मना गाने के ज़रीये गिनीज़ रिकार्ड का क़ियाम

आसाम के ज़िला डब्लयू गढ़ में मंगल के दिन दरयाए ब्रह्मा पत्रा के किनारे एक लाख से ज़्यादा अफ़राद जमा होगए और उन्होंने क़ौमीतरानागा कर गिनीज़ रिकार्ड में दाख़िला लेने की कोशिश की । फ़नकार अप्पू रज बरवा जो पहले ही तवील तरीन असकरीच आर्ट क

आसाम के ज़िला डब्लयू गढ़ में मंगल के दिन दरयाए ब्रह्मा पत्रा के किनारे एक लाख से ज़्यादा अफ़राद जमा होगए और उन्होंने क़ौमीतरानागा कर गिनीज़ रिकार्ड में दाख़िला लेने की कोशिश की । फ़नकार अप्पू रज बरवा जो पहले ही तवील तरीन असकरीच आर्ट केलिए जिसका मुज़ाहरा उन्होंने लंदन में किया था गिनीज़ बुक औफ़ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करवा चुके हैं इस कोशिश की क़ियादत कररहे हैं ।

इसके अलावा भी वो आलमी रिकार्ड क़ायम करने की दीगर कोशिशें कररहे हैं । इनका कहना है कि डब्लयू गढ़ में दरयाए ब्रह्मा पत्रा के किनारों पर एक लाख से ज़्यादा अफ़राद जमा होकर क़ौमी तराना जना गना मना और आसाम का तराना ओ मोर अप्पू नारदेख गाईंगे । लंदन से गिनीज़ बुक औफ़ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स के ओहदेदार इसका मुशाहिदा करने यहां मौजूद होंगे ।

इसके अलावा रियासत के फ़नकार 10 केलो मीटर तवील मुसव्विरी के ज़रीया एक और आलमी रिकार्ड क़ायम करने कोशां हैं । इस तस्वीर में क़ौमी अलामतों जैसे परचमों , अलामात , परिन्दों , फूलों और 250 से ज़्यादा ममालिक की तारीख़ी इमारतें शामिल होंगी ।

TOPPOPULARRECENT