Monday , October 23 2017
Home / India / जन लोक पाल बिल पर सॉलीसिटर जनरल के नुक़्ता-ए-नज़र से लापरवाही

जन लोक पाल बिल पर सॉलीसिटर जनरल के नुक़्ता-ए-नज़र से लापरवाही

जन लोक पाल बिल के बारे में सॉलीसिटर जनरल की राय की परवाह किए बगै़र चीफ़ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि वो इस क़ानूनसाज़ी के मर्कज़ से मुताबिक़त पैदा किए बगै़र मंज़ूरी के मंसूबों पर लेफ्टनेंट गवर्नर को मकतूब रवाना करेंगे। एक दि

जन लोक पाल बिल के बारे में सॉलीसिटर जनरल की राय की परवाह किए बगै़र चीफ़ मिनिस्टर अरविंद केजरीवाल ने आज कहा कि वो इस क़ानूनसाज़ी के मर्कज़ से मुताबिक़त पैदा किए बगै़र मंज़ूरी के मंसूबों पर लेफ्टनेंट गवर्नर को मकतूब रवाना करेंगे। एक दिन क़ब्ल सॉलीसिटर जनरल मोहन प्रसारण ने लेफ्टनेंट गवर्नर नजीब जंग को जन लोक पाल बिल पर अपनी राय से वाक़िफ़ करवा दिया है कि मर्कज़ के लोक पाल बिल से मुताबिक़त पैदा किए बगै़र एसे बिल की मंज़ूरी गै़रक़ानूनी होगी।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि हुकूमत के नुक़्ता-ए-नज़र से लेफ्टनेंट गवर्नर को वाक़िफ़ करवाएंगे। इस मसले पर उन्हें एक मकतूब रवाना करेंगे। मनीष सिसोदिया ने कहा कि हुकूमत इस मसले का जायज़ा लेगी। ताहम इस मौक़िफ़ का इआदा किया कि असेम्बली और मुंख़बा हुकूमत को फ़ैसला करने का हक़ हासिल है।

सीनियर क़ानूनदां पार्टी लीडर प्रशांत भूषण ने कहा कि बाज़ क़वाइद के लिए हुकूमत को क़ानून मंज़ूर करने से पहले मर्कज़ की इजाज़त हासिल करनी होती है लेकिन उसे गै़रक़ानूनी क़रार देने के लिए कई हक़ायक़ को पेशे नज़र रखना होता है। सदर जम्हूरीया हक़ायक़ की बुनियाद पर ही बिल की मंज़ूरी की इजाज़त देते हैं।

सॉलीसिटर जनरल ने कहा था कि उन्हें सियासत की फ़िक्र नहीं है। उन्होंने दस्तूरी मौक़िफ़ पर मबनी अपनी राय दे दी है। अब ये हुकूमत का काम है कि इस पर ग़ौर करे और क़ानून की मंज़ूरी दे। आम आदमी पार्टी ने आज मुतालिबा किया कि सॉलीसिटर जनरल की जानिब से लेफ्टनेंट गवर्नर को जिन लोक पाल बिल के बारे में मुरासलत का मुबय्यना इन्किशाफ़ होने की तहक़ीक़ात करवाई जाएं।

गवर्नर पर आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस का एजैंट होने का इल्ज़ाम आइद किया। पार्टी के तर्जुमान आशूतोष ने कहा कि ये पहली बार नहीं है जबकि लेफ्टनेंट गवर्नर के दफ़्तर से इत्तिलाआत का अफ़शा-ए-हुआ है। उन्होंने इस मामले की तहक़ीक़ात का मुतालिबा किया और कहा कि इस अफ़शा-ए‍से लेफ्टनेंट गवर्नर की साख मुश्तबा होगई है।

दिलचस्प बात ये है कि आम आदमी पार्टी को तशकील हुकूमत की दावत देने के दिन से ही लेफ्टनेंट गवर्नर से आम आदमी पार्टी के ताल्लुक़ात ख़ुशगवार रहे हैं। केजरीवाल ने उन्हें एक नफ़ीस शख़्सियत क़रार दिया था। कल लेफ्टनेंट गवर्नर नजीब जंग ने हुकूमत दिल्ली की जन लोक पाल बिल की मंज़ूरी की तजवीज़ पर सॉलीसिटर जनरल से दस्तूरी मौक़िफ़ की बुनियाद पर राय तल्ब की थी।

आम आदमी पार्टी क़ाइद और सीनीयर क़ानूनदां प्रशांत भूषण ने कहा कि क़ानून की एक दफ़ा के तहत पेशगी इजाज़त हासिल करने की भी अगर ज़रूरत हो तो अगर उसे पेशगी इजाज़त के लिए रवाना ना किया जाये तो उसे ग़ैर दस्तूरी क़रार नहीं दिया जा सकता क्योंकि आख़िर-ए-कार सदर जमहूरीया इसे मंज़ूरी दे देते हैं। वो तरीका-ए-कार के बारे में बातचीत कररहे थे जो क़वाइद के तायुन के सिलसिले में इख़तियार किया जाता है।

TOPPOPULARRECENT