Tuesday , October 24 2017
Home / India / जब काम ही “हिजड़ों” वाले हैं तो 56 इंच की छाती का क्या फायदा: पूर्व जस्टिस काटजू

जब काम ही “हिजड़ों” वाले हैं तो 56 इंच की छाती का क्या फायदा: पूर्व जस्टिस काटजू

नई दिल्ली: भारतीय सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश जस्टिस मार्कंडेय काटजू जोकि अक्सर खुले विचारों और बेबाक बयानों के लिए चर्चा में रहते हैं। हाल ही में हुए उरी हमले के चलते भारत-पाकिस्तान के बीच बने तनावपूर्ण माहौल में काटजू के इस बयान ने मानो आग में घी डालने जैसा है। फेसबुक पर काटजू ने लिखा है कि उरी हमले के बाद से लोग मुझसे पूछ रहे हैं कि सरकार को इस बार पाकिस्तान को कैसे सबक सिखाना चाहिए।

इस मामले में मेरा कहना है कि हमारी केंद्र सरकार का इस हमले को लेकर पाकिस्तान की कड़ी निंदा करना ही उनका सबसे बड़ा कदम है जोकि उन्हें हर हाल में जारी रखना चाहिए क्योंकि ये सब हिजड़े यही करना जानते हैं और इसी में इन्होंने महारत हासिल की हुई है। इनके लिए सख्त कार्रवाई करने का मतलब भी निंदा करना ही है।

ट्विटर पर ट्वीट में काटजू ने जहां प्रधानमंत्री मोदी को घेरते हुए कहा, “एक्शन मिस्टर मोदी एक्शन, सिर्फ बातें नहीं कारवाई भी कीजिये। अब दिखाइए अपनी 56 इंच की छाती और दीजिये पाकिस्तान को जवाब। इस बार तो मौका भी है और वक़्त भी तो चुप्प्पी तोड़ कर हमला बोले। वहीँ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि अब तो सत्ता में कांग्रेस नहीं बल्कि बीजेपी है। अब आपकी बारी है इसलिए आप साबित करें कि ‘मोदी सरकार मनमोहन सिंह सरकार जैसी कमजोर और निकम्मी नहीं है। अब एक्शन लेने का वक़्त है तो एक्शन लीजिये गडकरी।

TOPPOPULARRECENT