Wednesday , August 23 2017
Home / Entertainment / जब हम पेशावर हमलों पर रो सकते हैं तो पाकिस्तानी कलाकार उरी हमले की निंदा क्यूं नहीं कर रहे: महेश भट्ट

जब हम पेशावर हमलों पर रो सकते हैं तो पाकिस्तानी कलाकार उरी हमले की निंदा क्यूं नहीं कर रहे: महेश भट्ट

मुंबई: भारत से पाकिस्तानी कलाकार चाहे पाकिस्तान वापिस चले गए लेकिन वह बॉलीवुड की मशहूर हस्तियों को गुटों में बाँट गए। जहाँ एक तरफ कुछ लोग पाकिस्तानी कलाकारों के विरोध किये जाने का विरोध कर रहे हैं तो वहीँ उन्ही हस्तियों के खिलाफ बॉलीवुड से ही और आवाज़ें उठ रही हैं। पाकिस्‍तानी कलाकारों को लेकर बहस में बंट चुके बॉलीवुड में यह मुद्दा खूब तूल पकड़ रहा है।
एक टीवी चैनल पर बहस के दाैरान बॉलीवुड निर्माता निर्देशक महेश भट्ट ने कहा कि बरसो से सीमा पार रहने वाले लोग आतंकवाद से सबसे ज्‍यादा ग्रस्‍त रहे है उनपर हमेशा डर का साया मंडराता रहा है लेकिन अब उन्‍हें आतंक के खिलाफ सख्‍त रवैया अपनाना ही होगा। इसके साथ महेश भट्ट ने पाकिस्तानी कलाकारों को गुज़ारिश करते हुए कहा कि जब पेशावर में हुए बम धमाके में मारे गए बच्चों का खून बहा तो भारत के लोग भी खूब रोए क्‍योंकि हमने वही दर्द अपने दिल में महसूस किया जो वो कर रहे थे। कलाकार किसी से अलग नहीं हैं इसलिए मैं हाथ जोड़कर और घुटनों पर आकर पाकिस्तानी कलाकारों से अपील करता हूं कि वे आगे आएं और भारत पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा करें जिससे हो सकता है कि रिश्‍ते बेहतर हो पाए।

TOPPOPULARRECENT