Thursday , August 17 2017
Home / India / जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2017 में इस बार शामिल होंगे संघ के विचारक

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2017 में इस बार शामिल होंगे संघ के विचारक

जनवरी में होने वाले जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में इस बार दक्षिणपंथी विचारक और लेखक भी हिस्सा बनेंगे। इस बार इस फेस्टिवल में संघ के दो वरिष्ठ प्रचारक शामिल होंगे, जिनमें अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य और सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले का नाम है। ऐसा पहली बार है कि जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में किसी संघ विचारक को जगह दी जा रही है।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में देश और दुनिया के तमाम बुद्धिजीवी, चितंक, आलोचक इस कार्यक्रम में शिरकत करते है। पिछले वर्ष अशोक वाजपेयी, उदय प्रकाश और के सच्चिदानंद जैसे लेखकों ने असहनशीलता के मुद्दे पर अवॉर्ड वापसी कैंपेन को सपोर्ट किया था। जो काफी चर्चित रहा था और जिसके कारण मोदी सरकार की छवि पर व्यापक असर पड़ा था। लेकिन इस बार इन जैसे लेखकों को निमंत्रण नहीं दिया गया है।

लिट फेस्ट 2017 में आने वाले 10 वक्ताओं की घोषणा नवंबर में की गई थी। इसमें इतिहासकार, लेखिका और शास्त्रीय गायिका डाॅ. रेबा सोम, राजनीतिक वैज्ञानिक, पत्रकार तथा वकील विनय सीतापति, गीतकार, पटकथा लेखक और कवि प्रसून जोशी, स्वतंत्र पत्रकार कुंगा तेंजिन दोरजी, भाषाविद् तथा मॉरीशस इंस्टिट्यूट ऑफ एजुकेशन में प्रोफेसर डाॅ. इसा अरगरल्ली, डेविड कैनाडिन, एफबीए, डाॅज प्रोफेसर, हिस्ट्री, प्रिंसटन यूनिवर्सिटी एक बार फिर रहे हैं। हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में लाॅयड सी ब्लैंकफिन प्रोफेसर डेविड आर्मिटेज पुरस्कार प्राप्त लेखक और शिक्षक हैं।

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का विवादों से पुराना नाता रहा है। दिलचस्प बात है कि 2017 में जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के 10 साल पूरे हो रहे हैं। 19-23 जनवरी तक डिग्गी पैलेस होटल में आयोजित होने वाले इस फेस्टिवल में ढाई सौ लेखकों, विचारकों, पत्रकारों समेत सांस्कृतिक जगत की हस्तियों को आमंत्रित किया गया है।

TOPPOPULARRECENT