Sunday , August 20 2017
Home / Bihar/Jharkhand / जहरीली शराब से मौत पर फांसी तक की सजा

जहरीली शराब से मौत पर फांसी तक की सजा

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को एक अप्रैल से राज्य में शराबबंदी को पूरी सख्ती से लागू करने का संकल्प दोहराया. कहा कि विधानमंडल के चालू सत्र में ही इसके लिए सख्त कानून पास करवा कर लागू कर दिया जायेगा.

उन्होंने कहा कि राज्य में अगर कहीं भी जहरीली शराब से किसी की मौत होती है, तो इसे बनानेवाले के लिए मृत्युदंड तक का प्रावधान होगा. राज्य में 31 मार्च तक बची हुई सभी देशी शराब को पूरी तरह से नष्ट कर दिया जायेगा. मुख्यमंत्री बिहार दिवस के मौके पर गांधी मैदान में आयोजित समारोह के उद्घाटन के बाद संबोधित कर रहे थे.

अगले साल से शहरों में विदेशी शराब भी बंद : समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि चरणबद्ध तरीके से शराबबंदी लागू की जा रही है. इस साल ग्रामीण इलाकों में देशी और विदेशी शराब दोनों बंद हो जायेगी. अगले साल से शहरी इलाकों में भी विदेशी शराब भी बंद हो जायेगी.

शराबबंदी को पूरी मुस्तैदी से लागू करने के लिए हर पहलू पर फोकस किया जा रहा है. सख्त कानून लागू करने के अलावा डिएडिक्शन सेंटर और जन जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है. दूसरे राज्यों से लेकर आनेवाले स्पिरिट या छोआ के वाहनों को अधिकतम 24 घंटे में सीमा पार कर जाना होगा. इन वाहनों में किसी तरह की ‘हूच-ट्रेडिंग’ नहीं हो, इसके लिए डिजिटल लॉकिंग सिस्टम लागू किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कई स्थानों पर शराबबंदी लागू होने के बाद इसकी ‘होम डिलेवरी’ शुरू हो जाती है. बिहार में यह नहीं होने दी जायेगी. बिहारवासियों से इस अभियान में सहयोग करने की अपील करते हुए कहा कि यह ठीक ढंग से लागू हो गया, तो देश के कोने-कोने से आवाज आयेगी कि शराबबंदी बिहार की तरह लागू होनी चाहिए.

शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि वर्तमान में बिहार की विकास दर 17.5 प्रतिशत है. यह देश में सबसे ज्यादा है. 29 और 30 मार्च को 8वीं तक के बच्चों की मूल्यांकन परीक्षा ली जा रही है. इस मौके पर विधान परिषद के सभापति अवधेश नारायण सिंह, नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार, वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी, ऊर्जा मंत्री विजेंद्र प्रसाद यादव, जल संसाधन मंत्री ललन सिंह, परिवहन मंत्री चंद्रिका राय, पीएचइडी मंत्री केएन वर्मा, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री खुर्शीद आलम, कला संस्कृति मंत्री शिवचंद्र राम, आपदा मंत्री चंद्रशेखर, संतोष निराला, सांसद आरसीपी सिंह, जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह, महाधिवक्ता राम बालक महतो समेत अन्य कई अधिकारी मौजूद थे.

मुख्यमंत्री ने लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय औसत से बिहार की अधिक विकास दर की चर्चा करते हुए कहा कि अगर विशेष राज्य का दर्जा मिल जाये, तो विकास की गति में चार चांद लग जायेगा. बिहार के विकास के लिए सरकार ने जो सात निश्चय लिये गये हैं, उन्हें हर हाल में धरती पर उतारा जायेगा.

जिस थाना क्षेत्र में अवैध शराब की होगी बिक्री उसके खिलाफ  होगी सख्त कार्रवाई

नीतीश कुमार ने कहा कि जिस थाना क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री होगी, उस पर सख्त कार्रवाई होगी

उन्होंने कहा कि शराबबंदी जनसहयोग के बिना सफल नहीं हो सकती है. शिक्षा विभाग इसके लिए अच्छी पहल कर रहा है. एक करोड़ से ज्यादा अभिभावकों से शपथपत्र लिखवा कर ले लिया गया है. विकास मित्र, टोला सेवक, तालिमी मरकज, महिला समाख्या और साक्षरता अभियान से जुड़ी महिलाओं और कर्मियों के अलावा आशा, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिकाओं को इस अभियान को लेकर जागरुकता फैलाने के लिए मोबलाइजेशन करने का काम किया गया है. जिलों में डिएडिक्शन सेंटर शुरू कर दिया गया है.

TOPPOPULARRECENT