Sunday , May 28 2017
Home / Delhi / Mumbai / जाधव को वाणिज्य स्तर पहुँचा देने भारत की मांग खारिज

जाधव को वाणिज्य स्तर पहुँचा देने भारत की मांग खारिज

इस्लामाबाद: भारत ने अपने एक नागरिक  कुलभूषण जाधव एक पाकिस्तानी सैन्य अदालत द्वारा दी गई मौत की सजा के खिलाफ अपील दायर करने के सहित अपने मुकदमे के लिए कांसुलेट प्रवेश देने की मांग की है लेकिन पाकिस्तान ने मांग को स्वीकार करने से इनकार करते हुए कहा कि 46 वर्षीय भारतीय एक जासूस और उसके मुकदमा वाणिज्य कर से संबंधित आपसी समझौते में शामिल नहीं होता।

इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त गौतम बॉम्बे वाला ने आज पाकिस्तानी सचिव विदेश तहमीना से मिले और जाधव के लिए वाणिज्य कर देने की मांग की। स्थानीय मीडिया ने खबर दी हैकि बॉम्बे वाला ने इच्छा कि जाधव अपने मुकदमे का पालन के लिए वाणिज्य स्तर पहुँच जाए ताकि वह अपनी मौत के खिलाफ अपील कर सके।

लेकिन तहमीना ने बॉम्बे वाला की मांग को खारिज करते हुए कहा कि ” आपसी समझौता के तहत यह कर कैदियों के लिए है और जासूसों के लिए नहीं है ”। पाकिस्तान पिछले एक साल के दौरान जाधव को वाणिज्य पहुँचा देने के लिए भारत की मांग को अधिक से एक दर्जन बार अस्वीकार कर चुका है।

पाकिस्तानी सेना जाधव को वाणिज्य कर देने के एक संभावना को पहले ही खारिज कर चुकी है। जाधव को इस देश में विध्वंसक कार गतिविधियों और जासूसी के आरोप में एक सैन्य अदालत ने मृत्युदंड दिया है। यह दूसरा मौका था कि बॉम्बे वाला ने जाधव को वाणिज्य कर देने की मांग के जाधव साथ से मुलाकात की थी।

बॉम्बे वाला ने 14 अप्रैल को जाधव से मुलाक़ात करते हुए जाधव प्रदर्शन के बारे में भारत की चिंता और चिंता सूचित किया था। पाकिस्तान का कहना हैकि जाधव भारतीय नौसेना में है और एक बयान पर आधारित वीडियो भी जारी किया गया है लेकिन भारत का दावा हैकि जाधव नौसेना का एक सेवानिवृत्त कर्मचारी है और ईरान में उसका अपहरण कर पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के पास किया गया था।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT