Wednesday , October 18 2017
Home / India / जामिआ मीलिया इस्लामीया में तालिबात के लिए नए हास्टल्स का क़ियाम

जामिआ मीलिया इस्लामीया में तालिबात के लिए नए हास्टल्स का क़ियाम

नई दिल्ली, ०९ नवंबर ( आई ए एन एस) यूनीवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन की जानिब से 26 करोड़ का अतीया मिलने के बाद जामिआ मीलिया इस्लामीया नए गर्ल्स हास्टल का क़ियाम अमल में लाएगा । जनरल डेव्लपमेन्ट स्कीम के तहत यूनीवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन ने 26 क

नई दिल्ली, ०९ नवंबर ( आई ए एन एस) यूनीवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन की जानिब से 26 करोड़ का अतीया मिलने के बाद जामिआ मीलिया इस्लामीया नए गर्ल्स हास्टल का क़ियाम अमल में लाएगा । जनरल डेव्लपमेन्ट स्कीम के तहत यूनीवर्सिटी ग्रान्ट्स कमीशन ने 26 करोड़ रुपए का अतीया मंज़ूर किया है जिस में कैंपस में गर्ल्स हॉस्टल की नई इमारत की तामीर भी शामिल है ।

याद रहे कि यूनीवर्सिटी को अब तक इतना बड़ा अतीया पहली बार मिला है । फ़िलहाल यूनीवर्सिटी में पाँच गर्लस हॉस्टल्स हैं जिस में मजमूई तौर पर 500 तालिबात (छात्राओं) की गुंजाइश है । इलावा अज़ीं ( इसके अतिरिक्त) इस में साइबर कैंटीन और जिम की सहूलयात भी दस्तयाब हैं ।

जामिआ के एक बयान के मुताबिक़ दाख़िले की मौजूदा पालिसी के मुताबिक़ हर कोर्स में जुमला नशिस्तों में 10फ़ीसद नशिस्तें मुस्लिम लड़कीयों के लिए महफ़ूज़ हैं ताकि मुस्लिम लड़कीयों का ज़्यादा से ज़्यादा दाख़िला अमल में आए और उन्हें ज़्यादा से ज़्यादा तालीम हासिल हो यूनीवर्सिटी कैंपस में रिहायश की सहूलत फ़राहम करने ज़ाइद हास्टल्स की तामीर नागुज़ीर हो गई है और यूनीवर्सिटी ने इस का तयक्क़न भी दिया है कि हास्टल में गर्लस को किसी भी नौईयत की मुश्किलात का सामना नहीं करना पड़ेगा ।

याद रहे कि जामिआ मिलिया इस्लामीया का क़ियाम दरअसल 1920 में अलीगढ़ में अमल में आया था लेकिन पार्लीमेंट के 1988 के एक क़ानून के मुताबिक़ इसे मर्कज़ी यूनीवर्सिटी का मौक़िफ़ हासिल हो गया । इस तरह मौलाना आज़ाद नैशनल उर्दू यूनीवर्सिटी का क़ियाम भी पार्लीमेंट के 1998 के एक ऐक्ट के तहत अमल में आया था।

TOPPOPULARRECENT