Thursday , October 19 2017
Home / Bihar News / जिनके बाप दादाओं का मुल्क की आज़ादी में कोई किरदार नहीं है, वो हमारे डीएनए को गड़बड़ कहते हैं : नीतीश कुमार

जिनके बाप दादाओं का मुल्क की आज़ादी में कोई किरदार नहीं है, वो हमारे डीएनए को गड़बड़ कहते हैं : नीतीश कुमार

पटना : बिहार में इंतिख़ाब से पहले राजद-जदयू-कांग्रेस की रैली में वजीरे आला नीतीश कुमार ने वजीरे आजम मोदी पर तीखे वार किए हैं और ‘जंगलराज’ से लेकर बिहार के पसमनदगी और खुसुसि पैकेज के मुद्दों पर उन्हें आड़े हाथों लिया है। पटना के गांधी मैदान में मुनक्कीद रैली में नीतीश के साथ कांग्रेस सदर सोनिया गांधी और साबिक़ वजीरे आजम लालू यादव भी मौजूद थे। तीखा वार करते हुए बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने कहा, “जिनके बाप दादाओं का मुल्क की आज़ादी में कोई किरदार नहीं है, वो हमारे डीएनए को गड़बड़ कहते हैं? वो मेरे डीएनए की बात कर रहे थे। मैं कौन हूँ? मेरा डीएनए वहीं है जो बिहार में सभी का है। ”

बिहार के वजीरे आला नीतीश कुमार ने कहा कि भाजपा के दफ़्तर में बैठकर इनके (भाजपा) लीडर कहते हैं कि वजीरे आल की छाती तोड़ देंगे। उन्होंने आगे कहा, “जो लोग वजीरे आला की छाती तोड़ देने की बात करते हैं, उन्हें वजीरे आजम बिहार में आकर दोस्त बताते हैं। जब-जब लालू जी को देखते हैं, कहते हैं जंगलराज आ जाएगा, और वजीरे आला की छाती तोड़ने की बात इन्हें मंगलराज लगती है?” उन्होंने कहा कि वजीरे आजम जंगलराज की बात करते हैं, लेकिन क्राइम के अदाद व शुमार को देखें तो एक लाख की आबादी के पीछे गुजरात में 213 और बिहार में 174 जुर्म होते हैं। ख़वातीन के खिलाफ जुर्म के मामले में भी दिल्ली में हालात कहीं ख़राब हैं जहाँ मरकज़ी क़ानून निजाम कायम करता है, और बिहार में हालत बहुत बेहतर है।

उन्होंने दावा किया कि बिहार 10 फीसद कि तरक़्क़ी शरह से बढ़ रहा है, और आगे भी बढ़ेगा। लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि अगर बिहार को लंबी छलांग लगानी है के लिए 20-25 साल का वक़्त लगेगा, इसीलिए खुसुसि रियासत का दर्जा मांग रहे हैं।

 

 

 

TOPPOPULARRECENT