Friday , October 20 2017
Home / World / जिनेवा मीटिंग में शरीक हों, कैरी का शामी अपोज़ीशन पर ज़ोर

जिनेवा मीटिंग में शरीक हों, कैरी का शामी अपोज़ीशन पर ज़ोर

अमरीकी वज़ीरे ख़ारजा जॉन कैरी ने शाम की अपोज़ीशन पर ज़ोर दिया है कि वो आइन्दा हफ़्ते जिनेवा के मुज़ाकरात में शिरकत करें। मग़रिबी ममालिक की तरफ़ से तस्लीम की जाने वाली सीरीइन नेशनल कोलीशन ने कहा है कि जिनेवा जाने या ना जाने का एलान जुमा

अमरीकी वज़ीरे ख़ारजा जॉन कैरी ने शाम की अपोज़ीशन पर ज़ोर दिया है कि वो आइन्दा हफ़्ते जिनेवा के मुज़ाकरात में शिरकत करें। मग़रिबी ममालिक की तरफ़ से तस्लीम की जाने वाली सीरीइन नेशनल कोलीशन ने कहा है कि जिनेवा जाने या ना जाने का एलान जुमा को किया जाएगा। अपोज़ीशन क़ाइदीन ने अमन मुज़ाकरात की मेज़ पर शाम के सरकारी अहलकारों के साथ बैठने के बारे में बदगुमानी का इज़हार किया है।

कैरी ने उन से ये अपील की है कि उबूरी हुकूमत तशकील देने का मौक़ा गंवाना नहीं चाहीए। तमाम फ़रीक़ैन के लिए ज़रूरी है कि वो नई हुकूमत की मुजव्वज़ा साख़्त पर इत्तिफ़ाक़ करें, जिस का मतलब ये है कि मुम्किना तौर पर शाम के सदर बशारुल असद को इस इजलास में शामिल नहीं किया जाएगा।

कैरी, सदर शाम के इन हर्बों को मुस्तरद करते हैं, जिन में ध्यान एक नई हुकूमत तशकील देने से हटा कर दहश्तगर्दी से जंग पर मर्कूज़ रखने की कोशिश की जा रही है। अक़वामे मुत्तहिदा के तर्जुमान ने कहा है कि शाम के ‘अरब हिलाल अह्मर’ की मुआवनत से ख़ुराक, अदवियात और सर्द मौसम से बचने के लिए रसद लेकर एक क़ाफ़िला अल ग़ज़लानीह पहुंचा, जो इलाक़ा दमिश्क़ के हवाई अड्डे के क़रीब वाक़े है।

TOPPOPULARRECENT