Saturday , August 19 2017
Home / India / जीएसटी बिल पर जे डी यू का मौक़िफ़ बरअक्स

जीएसटी बिल पर जे डी यू का मौक़िफ़ बरअक्स

नई दिल्ली: बिहार में अज़ीम इत्तेहाद की शानदार कामयाबी की गूंज इमकान है कि पार्लियामेंट में भी सुनाई देगी जब कि सरमाया इजलास का इंतेख़ाब होगा। जनतादल यूनाइटेड ने इशारा दिया है कि वो जी एसटी बिल के बारे में अपोज़ीशन का अज़ीम-तर इत्तेहाद चाहता है।

जे डी यू ने इस बिल की ताईद की थी। मर्कज़ ने दलील पेश की है कि सारे रियासतें जैसे बिहार को इश्याय और ख़िदमात टैक्स जी एस टी पर अमलावरी से फ़ायदा हासिल होगा। ये जेडीयू के पस-ए-पर्दा एक बड़ी वजह है जो रियासत पर गुज़िशता10साल से हुकूमत कर रही है और उसे इस मुसव्वदा क़ानून की ताईद करना चाहिए।

अपोज़िशन पार्टीयां एन डी ए की बिहार में इंतेख़ाबी नाकामी के बाद बुलंद हौसला खो गई है। जेडीयू के सीनियर क़ाइदीन ने कहा कि उन्हें दीगर सियासी पार्टीयों से मश्वरा के बाद ही इस सिलसिले में क़तई अपील करनी होगी। नए हालात में हम फ़ैसला दीगर अपोज़िशन पार्टीयों के साथ मुशावरत के बाद ही कर सकते हैं।

कांग्रेस अज़ीम इत्तेहाद का एक हिस्सा है और उसने इस्लाही बिल की चंद दफ़आत की मुख़ालिफ़त की और पार्लियामेंट के मानसून इजलास में कई मसाइल के अलावा जीएसटी बिल की मंज़ूरी को भी रोक दिया। उनमें बाज़ बी जे पी क़ाइदीन का मुबय्यना करप्शन भी शामिल था।

जेडीयू और लालू प्रसाद की आर जे डी जो बिहार में10साल बाद इक़्तेदार पर वापिस आई है इस के क़ाइदीन का आइन्दा दिनों में किसी भी फ़ैसले में अहम किरदार होगा। कांग्रेस सबसे बड़ी अपोज़िशन पार्टी है। दोनों इलाक़ाई पार्टीयों का ख़्याल है कि उन्हें इस बिल के बारे में कांग्रेस के अंदेशों को भी पेश-ए-नज़र रखना होगा।

जीएसटी बिल में तमाम बिलवासता टैक्सेस की एक ही शरह होगी। पूरा मुल्क वाहिद बाज़ार में यकजहत होगा। उसकी मंज़ूरी लोक सभा से हो चुकी है और राज्य सभा में बाक़ी है। राज्य सभा में जेडीयू के12अरकान हैं और एन डी ए को अक्सरीयत हासिल नहीं है। आर जे डी का भी राज्य सभा में एक रुकन है। बी जे पी का पुराज़म जीएसटी बिल पार्लियामेंट के सरमाई इजलास का अहम मौज़ू होगा |

TOPPOPULARRECENT