Monday , October 23 2017
Home / Sports / जुनैद ख़ान दुनिया के बेहतरीन फ़ास्ट बोलर बनने का इरादा

जुनैद ख़ान दुनिया के बेहतरीन फ़ास्ट बोलर बनने का इरादा

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के फ़ास्ट बोलर जुनैद ख़ान ने कहा कि दौरा वेस्ट इंडीज़ में फ़ास्ट बोलर्स के लिए माहौल साज़गार ना था

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के फ़ास्ट बोलर जुनैद ख़ान ने कहा कि दौरा वेस्ट इंडीज़ में फ़ास्ट बोलर्स के लिए माहौल साज़गार ना था

वहां की विकटें स्पिनर्स के लिए मददगार साबित होरही थीं, अगर वहां टेस्ट मैच होते तो जिस्म थक जाता और फ़ास्ट बोलर्स के लिए मसाइल बढ़ सकते थे। मुस्तक़बिल में ख़ुद को बेहतरीन बोलर साबित करना चाहता हूँ। 30 वन्डे मुक़ाबलों में 24.40 की औसत से 47 विकटें हासिल करने वाले जुनैद ख़ान ने एक टी वी चैनल के प्रोग्राम स्कोर में ख़ुसूसी इंटरव्यू के दौरान कहा कि दौरा ज़िम्बाब्वे में उनका पहला निशाना वन्डे मैचों में विकटों की निस्फ़ सैंचरी मुकम्मल करना है।

एक सवाल पर कि फ़िटनैस मसाइल के सबब केरियर के शुरू में कुछ ज़्यादा ही मुश्किलात रहें, फ़ास्ट बोलर ने कहा कि वसीम अकरम , वक़ार यूनुस और आक़िब जावेद ने उन्हें पहले ही बता दिया था कि फ़ास्ट बोलर के लिए क्रिकेट के शुरूआती दिन इतने आसान नहीं होते लेकिन अपनी फ़िटनैस पर इन दिनों नैशनल क्रिकेट अकेडमी में ख़ास मेहनत कर रहा हूँ।

बैन-उल-अक़वामी क्रिकेट में बेहतरीन फ़ास्ट बोलर के सवाल पर जुनैद ख़ान ने कहा कि इंगलैंड के जेम्ज़ एंडरसन बिलाशुबा बेहतरीन बोलर हैं। एक ज़माना था कि हिंदुस्तान के पास आर पी सिंह, ज़हीर ख़ान और अशीष नेहरा जैसे बाएं हाथ के बोलर्स मौजूद थे और आज पाकिस्तान के पास मुझ समेत सुहेल तनवीर , मुहम्मद इर्फ़ान , वहाब रियाज़ मौजूद हैं जो बाएं हाथ से गेंद करते हैं लेकिन हम सब का अंदाज़ मुख़्तलिफ़ है।

वसीम अकरम के बौलिंग कैंप में लीजेंड फ़ास्ट बोलर से बहुत कुछ सीखा। पाकिस्तान में बैन-उल-अक़वामी क्रिकेट के सवाल पर जुनैद ख़ान ने कहा कि मुक़ामी अवाम में ना खेलना सब से अफ़सोसनाक बात है, मुत्तहदा अरब इमारात की विकटें स्पिनर्स को मदद करती हैं और यहां घरेलू सीरीज़ खेलने से स्पिनर्स को फ़ायदा होता है।

इस्के बाद‌ दौरा ज़िम्बाम्वे में उम्मीद है कि मुहम्मद इर्फ़ान के साथ नई गेंद पर विकटें हासिल करके टीम को अच्छा आग़ाज़ फ़राहम करने में कामयाब रहूँगा। टेस्ट फ़ास्ट बोलर का कहना है कि वो पाकिस्तान के लिए ज़्यादा से ज़्यादा क्रिकेट खेलना चाहते हैं। दौरा ज़िम्बाब्वे में अच्छी कारकर्दगी का मुज़ाहरा कर के ना सिर्फ़ आने वाली सीरीज़ के लिए भरपूर तैयारी करूंगा बल्कि ख़ुद को सब से बेहतरीन साबित करना भी सब से बड़ा निशाना है।

TOPPOPULARRECENT