Tuesday , August 22 2017
Home / Crime / जुबैर बनना चाहता था आईएस तरजुमान हुआ गिरफ्तार

जुबैर बनना चाहता था आईएस तरजुमान हुआ गिरफ्तार

नई दिल्ली: दहशतगर्द तंज़ीम आईएस में शामिल होने वाले नौजवानो की तादाद बढ़ती जा रही है. कुछ ऐसे नौजवान हैं जो इस्लाम और जिहाद के नाम पर दुनिया के सबसे खतरनाक दहशतगर्द तंज़ीम का हिस्सा बनना चाहते हैं. ऐसे ही आईएस का हिस्सा बनने जा रहे मुबय्यना तौर पर सहाफी जुबैर अहमद खान को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि जुबैर आईएस में शामिल होकर उसका तरजुमान बनना चाहता था.

इससे पहले मुंबई क्राइम ब्रांच के आफीसर उस शख्स की तलाश में थे जिसने सोशल मीडिया पर ऐलान किया था कि वह 1993 के सीरियल धमाकों के मुजरिम याकूब मेमन का हमदर्द है. इस शख्स ने यह भी कहा था कि वह इस्‍लामिक स्‍टेट का आफीशियली तरजुमान बनने के लिए अपनी हिंदुस्तान की शहरियात छोड़ना चाहता है.

पुलिस के ज़राये के मुताबिक , यह शख्स नवी मुंबई का रहने वाला है. उसे बांद्रा में ट्रेस किया गया था, जहां क्राइम ब्रांच के आफीसर मंगल के रोज़ दोपहर उसे गिरफ्तार करने गए थे. हालांकि, वह पुलिस के जाल से बच निकला. एक सीनीयर पुलिस आफीसर ने बताया कि उन्‍हें इस मामले की मालूमात कुछ दिन पहले एक शहरी के जरिये हुई.

ज़राये ने बताया कि सोशल नेटवर्किंग साइट पर यह मुश्तबा शख्स जुबैर अहमद खान के नाम से मौजूद है. उसने आईएस के लीडर अबू बकर अल-बगदादी के नाम लिखी अपनी पोस्‍ट में खाहिश जाहिर की है कि उसे इराक और सीरिया के इलाको में खलीफा का ऐलान करने वाले दहशतगर्द ग्रुप के मगरिबी एशियाई इलाके का आफिशियली तरजुमान बना दिया जाए.

इस मुश्तबा ने दावा किया है कि वह पेशे से सहफी है. उसने अपनी पोस्‍ट में यह भी लिखा है कि अगर आईएस उसे चुनती है, तो वह अपनी हिंदुस्तान की शहरियात छोड़ने के लिए तैयार है. मेमन को 30 जुलाई को फांसी दिए जाने से पहले और उसके बाद उसने कई पोस्‍ट की हैं, जिसमें उसने मेमन को शहीद बताया है.

एक अगस्‍त के रोज़ अपनी पोस्‍ट में उसने लिखा था कि वह आईएस का तरजुमान बनने की अपनी खाहिश जाहिर करने के लिए चार अगस्‍त को राजधानी एक्‍सप्रेस से दिल्‍ली वाके इराकी सिफारतखाना जाएगा. उसने यह भी लिखा था कि वह पाकिस्‍तानी सिफारतखाने में अपने वीजा दरखास्त के लिए भी जाएगा.

एक पुलिस आफीसर ने नाम नहीं शाय करने की गुजारिश पर बताया क‍ि उस मुश्तबा की पोस्‍ट फेसबुक और ट्विटर पर वायरल हो गई है. कुछ लोगों ने उसकी पोस्‍ट को पीएम के ट्विटर हैंडल और वज़ीर ए दाखिला राजनाथ सिंह के फेसबुक पेज पर फॉरवर्ड किया है. पुलिस ने उसकी कुछ पोस्‍ट को डिलीट कर दिया है, लेकिन उसे पूरी तरह से नहीं हटा पाई है क्‍योंकि यह पोस्‍ट वायरल हो गई है.

TOPPOPULARRECENT