Thursday , September 21 2017
Home / India / जो ‘भारत माता की जय’ नहीं कहते, उसे इस देश में रहने का कोई हक़ नहीं: देवेंद्र फड़नवीस

जो ‘भारत माता की जय’ नहीं कहते, उसे इस देश में रहने का कोई हक़ नहीं: देवेंद्र फड़नवीस

मुम्बई: ‘भारत माता की जय’ बोलने या ना बोलने के विवाद में अब महाराष्ट्र के CM देवेंद्र फड़नवीस भी शामिल हो गए हैं. फड़नवीस ने कहा है कि ‘भारत माता की जय’ जो नहीं कहता उसे इस देश में रहने का कोई हक नहीं है. आजतक के अनुसार उन्होंने ने कहा कि मैं कहना चाहूंगा की इस देश के करोड़ों लोगों का मत है कि ‘भारत माता की जय बोलना’ ही पड़ेगा, और जो लोग नहीं बोलेंगे उन्हें इस देश में रहने का कोई हक नहीं है. ‘भारत माता की जय’ किसी मज़हब का नारा नहीं है.

मुसलमान भारत माता की जय क्यूं नहीं कहते ?

सियासत के अनुसार दारुल उलूम देवबंद ने भारत माता की जय बोलने के मसले पर गुरुवार को फतवा जारी किया. दारुल उलूम ने कहा है कि जिस तरह मुसलमान वंदे मातरम नहीं बोल सकते इसी तरह मुस्लिम ‘भारत माता की जय’ भी नहीं बोल सकते. क्यूंकि मुसलमान सिवाए अल्ल्लाह के किसी और की इबादत (पूजा ) नहीं कर सकते और किसी दुसरे चीज़ या इन्सान को माबूद (भगवान) नहीं मान सकते, क्यूंकि यह इस्लाम मज़हब के खिलाफ है , इसके बाद से विवाद और तेज हो गया है. बता दें कि ‘भारत माता की जय’ बोलने या ना बोलने को लेकर पिछले कुछ दिनों से जमकर बहस छिड़ी हुई है.

 

TOPPOPULARRECENT