Monday , July 24 2017
Home / Khaas Khabar / जो समझते हैं देश में मोदी से ऊपर कोई नहीं है, अनुराग ठाकुर पर फ़ैसला उन लोगों के लिए सबक है

जो समझते हैं देश में मोदी से ऊपर कोई नहीं है, अनुराग ठाकुर पर फ़ैसला उन लोगों के लिए सबक है

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को अनुराग ठाकुर को BCCI प्रेसिडेंट और अजय शिर्के को सेक्रेटरी की पोस्ट से हटा दिया। इस मामले पर ट्विटर यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रियाएं देते हुए लिखा है, कि उन लोगों के लिए सबक जो समझते हैं देश में मोदी से ऊपर कोई नहीं हैं, और कुछ ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए इसे एक निष्पक्ष फैसला बताया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

पढ़िए सोशल मीडिया पर लोगों का प्रतिकिर्या-

Lesson for those who believing tht there is nothing above Modi in this country.
BJP MP #anuragthakur got slap from SC#SCstumpsAnuragThakur
Big Slap to BJP! Supreme Court removes #AnuragThakur from the post of #BCCI President.
An independent committee will monitor BCCI.
11:47 AM – 2 Jan 2017

सुप्रीम कोर्ट ने #AnuragThakur को #BCCI से बाहर का रास्ता दिखाया, कहा ये झूठा व् मक्कार भाजपाई किसी पद के लायक नहीं #SCstumpsAnuragThakur
12:36 PM – 2 Jan 2017

Supreme Court sacked @ianuragthakur from post of BCCI President, SC-Ye post mujhe de de thakur#AnuragThakur#BCCI
12:26 PM – 2 Jan 2017

Massive Cricket clean up exercise by Supreme Court. Removes Anurag Thakur from BCCI. #AnuragThakur #SC #BCCI
11:56 AM – 2 Jan 2017

Ae Thakur tu to gayo – Supreme Court#BCCI #AnuragThakur
11:48 AM – 2 Jan 2017

#SupremeCourt gave us New Year Gift by removing #AnuragThakur As BCCI President,Lets see if Modiji sacks Anurag from clean BJP
1:44 PM – 2 Jan 2017

Hats off to the historic judgement.Only honourable #SupremeCourt could do this. Democracy will get more transparent… https://twitter.com/amritabhinder/status/815822519634567168 …
Apna vote to Supreme Court ko hi denge bhiyaa
An Indori after learning about SC order over election campaign and BCCI#SupremeCourt #BCCI
2:00 PM – 2 Jan 2017

Thank U #SupremeCourt for demolishing the #Mafia in #IndianCricket.#BoardGameover

आपको बता दूँ कि 15 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने उनके द्वारा दायर हलफनामे को झूठा पाया था। और इसे धोखाधड़ी बताया था।
सुप्रीम कोर्ट ने माना कि उसके ऑर्डर के बाद भी बीसीसीआई में लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें लागू नहीं करने के लिए ये दोनों जिम्मेदार हैं।
चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर की अगुआई वाली बेंच ने अनुराग से पूछा कि आखिर उनके खिलाफ केस क्यों न चलाया जाए? बता दें कि आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले के बाद बोर्ड में सुधार के लिए सुप्रीम कोर्ट ने लोढ़ा कमेटी अप्वाइंट की थी। कमेटी की अहम सिफारिशों को मानने से बोर्ड इनकार कर चुका था। इसके बाद लोढ़ा कमेटी ने बोर्ड ऑफशियल्स को बर्खास्त करने की भी सिफारिश की थी।

TOPPOPULARRECENT