Tuesday , August 22 2017
Home / Business / ज्वेलरस‌ की हड़ताल को लेकर मतभेद

ज्वेलरस‌ की हड़ताल को लेकर मतभेद

दिल्ली में दुकानें अब तक बंद, तमिलनाडु में 6300 करोड़ रुपये का नुकसान

नई दिल्ली: ज्वेलरस‌ का एक हिस्सा है और सोने चांदी के व्यापारियों ने बीसवें दिन भी दिल्ली में अपनी दुकानें नहीं खोलें। केंद्रीय वज़ीर फाइनेंस‌ अरुण जेटली से मुलाकात के बाद ज्वेलरस‌ बड़ी ने विरोध को अस्वीकार किया था। हालांकि नई दिल्ली में सरकार के आश्वासन के बावजूद अक्सर दुकानें बंद थीं।

अखिल भारतीय सराफा एसोसिएशन के उपाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार जैन ने कहा कि नई दिल्ली ने हड़ताल अवधि जब तक कि सरकार प्रस्तावित एक्साइज़ ड्यूटी से वापस नहीं जाती जारी रहेगा। इस बीच विभिन्न शहरों सहित जयपुर से भी जवहरयों हड़ताल बंद रहने की सूचना मिली है।

चेन्नई से मिली सूचना के मुताबिक तमिलनाडु और पुडुचेरी में हड़ताल की वजह से ज्वेलरों कारोबार का 6300 करोड़ रुपये का नुकसान हो गया है। आज सरकार के आश्वासन के बाद तमिलनाडु और पुडुचेरी में जवहरयों की कुछ दुकानें खोल दी गईं जबकि अन्य दुकानें अब तक हड़ताल जारी रखे हुए हैं।

TOPPOPULARRECENT