Tuesday , September 26 2017
Home / Bihar/Jharkhand / झारखंड : धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाये जाने के बाद दो पक्षों में हुई झड़प, तनावपूर्ण स्थिति

झारखंड : धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाये जाने के बाद दो पक्षों में हुई झड़प, तनावपूर्ण स्थिति

जामा : दुमका जिले के जामा थाना क्षेत्र के परगाडीह गांव में बीती रात प्रतिमा विसर्जन के दौरान धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाये जाने के बाद दो पक्षों में हुई झड़प के बाद तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है. रात के वक्त प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो पक्षों में हुए टकराव को पुलिस ने रोकने की भरपूर कोशिश की, पर एक पक्ष से लाठी-डंडे व ईंट-पत्थर चलाये जाने की वजह से वे उन्हें रोक नहीं पाये. घटना में पुलिस की ओर से एएसआई मनोज कुमार, हवलदार रंजीत मंडल, दीपक गंधर्व, टिंकू गंधर्व, राजकिशोर गंधर्व, मिलन कुमार मंडल, चमरु भंडारी आदि घायल हो गये. इनमें से अधिकांश के सिर में चोट लगी है। सुबह-सुबह एक गुट ने दूसरे गुट पर हमला कर दिया और आगजनी भी की. स्थिति भयावह होते देख जिले के एसडीओ जिशान कमर और डीएसपी रौशन गुड़िया मौके पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया.

बाद में डीसी राहुल कुमार सिन्हा व एसपी प्रभात कुमार, डीएसपी अशोक कुमार सिंह, बीडीओ विवेक कुमार सुमन भी दल-बल के साथ घटना स्थल पहुंचे. दोनों पक्षों के बीच टकराव की स्थिति को देख वहां धारा 144 लगा दी गयी है. डीसी-एसपी ने गांव में घूमकर लोगों से शांति व्यवस्था बनाये रखने और कानून हाथ में न लेने की अपील की. समाचार लिखे जाने तक पुलिस बल वहां कैम्प किये हुए है. आने-जाने वाले लोगों और प्रत्येक वाहनों पर कड़ी नजर रखी जा रही है.

मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है. भाजपा कार्यकर्ता प्रकाश चंद्र गंधर्व और उसकी पत्नी शर्मिला गंधर्व के अलावा 18 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. जिन लोगों की गिरफ्तारी हुई है, उसमें प्रथम पक्ष के अजमेर भाट, मुस्तकीम भाट, सज्जाद भाट व असलम भाट तथा द्वितीय पक्ष के प्रकाश चंद्र गंधर्व, शर्मिला देवी, कामेश्वर राय, किशुन राय, संतोष गंधर्व, विजय पंडित, सैंटु किस्कू, संतोष कुमार इंद्र, रंजीत मंडल, नितेश कुमार गुप्ता, सचिन कुमार इंद्र, सरजू रजक, राकेश गंधर्व व कुलदीप कुमार यादव शामिल हैं.

परगाडीह गांव के पास कल रात मूर्ति विसर्जन के दौरान हलका सा तनाव हुआ था. प्रशासन को सूचना मिली थी और स्थिति को नियंत्रित कर लिया गया था. प्रतिमा का विसर्जन भी हो गया था. सुबह फिर तनाव की स्थिति बन गयी और कुछ अराजक तत्वों ने ताजिया को क्षति पहुंचायी. जिन्होंने ताजिया को क्षति पहुंचायी थी, उन्हें तुरंत गिरफ्तार कर लिया गया और कोर्ट में पेश कर दिया गया. गांव में धारा 144 लगी हुई है. स्थिति अभी पूरी तरह से नियंत्रण में है. कोई जानमाल की क्षति नहीं हुई है. दोनों पक्षों को बुलाकर शांति समिति बैठक की जायेगी और सुलह समझौता करा दिया जायेगा. जो थोड़ी सी समस्या उत्पन्न हुई थी, उसे दोनों पक्षों से बात करके दूर कर लिया गया है. किसी तरह के तनाव की बात अब नहीं रही. पुलिस-प्रशासन कैम्प कर रही है. गांव में ही शांति समिति की बैठक होगी. उम्मीद है उसके बाद सबकुछ सामान्य हो जायेगा.

TOPPOPULARRECENT