Sunday , August 20 2017
Home / Bihar/Jharkhand / झारखंड : मां-बाप और भाई-बहन के सामने बेटी से गैंगरेप

झारखंड : मां-बाप और भाई-बहन के सामने बेटी से गैंगरेप

तोपचांची : झारखंड के तोपचांची में मां-बाप, भाई-बहन को बंधक बना कर उनके सामने दो लोगों ने 14 वर्षीया एक किशोरी से गैंग रेप किया. पूरा परिवार 50 घंटे तक बंधक बना रहा. इस दौरान दो बार किशोरी से दुराचार किया गया. विरोध करने पर आरोपियों ने मां-बाप व छोटे भाई-बहनों की बुरी तरह पिटाई की. आरोपी पिकनिक मनाने के बहाने परिवार को लेकर तोपचांची पहुंचे थे. पीड़ित परिवार गिरिडीह जिला के निमियाघाट थाना क्षेत्र के प्रतापपुर का रहनेवाला है. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए रामकनाली से एक आरोपी अजय कुमार (30) को गिरफ्तार कर लिया है. अजय रामकनाली का ही रहनेवाला है. उसके घर से पीड़िता को बरामद किया गया. किशोरी ने तोपचांची थाना में बताया कि जंगल में छह-सात लोग मौजूद थे. इनमें से अजय व एक और व्यक्ति ने दुराचार किया. ये लोग बार-बार जगह बदलते थे. उसके मां-बाप से बुरी तरह मारपीट भी की गयी. दोनों का उपचार पीएचसी, तोपचांची में करवाया गया. लड़की की मेडिकल जांच शुक्रवार को होगी. प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया जारी है.

डीएसपी मनीष कुमार व तोपचांची इंस्पेक्टर सह थानेदार लखन राम को किशोरी के माता-पिता ने बताया कि आरोपियों में एक अजय कुमार उनका परिचित है. ये लोग मंगलवार को उनके घर गये और पिकनिक पार्टी का निमंत्रण दिया. मंगलवार की सुबह पिता-मां, 12 वर्षीय भाई और आठ वर्षीय बहन को ऑटो व किशोरी को मोटरसाइकिल पर लेकर ये लोग वाटर बोर्ड डैम पहुंचे. पूरे दिन पिकनिक मनाया. शाम होते ही दोनों का असली चेहरा सामने आ गया. भुजाली, चाकू आदि के बल पर पूरे परिवार को डैम की पूरब दिशा में ले जाया गया. जंगल में चार-पांच और लोग साथ हो गये. सभी शराब का सेवन किये हुए थे.

आपस में हंस-हंस की बातें कर रहे थे. जंगल में एक समतल स्थान पर पूरे परिवार को पेड़ में रस्सी से बांध दिया गया. इसके बाद दो लोगों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया. विरोध करने और शोर मचाने पर बुधवार को पलास पेड़ के डंडा से परिवार के सभी सदस्यों की पिटाई कर अधमरा कर दिया और पुन: पेड़ से बांध दिया.

गुरुवार को परिजन किसी प्रकार आरोपियों के चंगुल से भाग निकले. स्थानीय पंचायत प्रतिनिधियों के सहयोग से वे तोपचांची थाना पहुंचे, जहां सारा वृतांत कह सुनाया. जानकारी मिलते ही डीएसपी मनीष कुमार थाना पहुंचे और पीड़ित परिवार से जानकारी ली. लड़की के पिता ने बताया कि बुधवार को आरोपियों ने पुन: दुष्कर्म किया. उन लोगों को पेड़ से बांध कर नाबालिग को लेकर शाम ढलने के बाद सभी अन्यत्र चले गये. जाते-जाते धमकी देते गये कि गुरुवार को सभी का काम तमाम कर देंगे. ठंड में रात गुजारने के बाद गुरुवार की सुबह उनके बेटे ने दांत से अपने हाथ और पैर की रस्सी खोलने का प्रयास किया. दोपहर में सफलता मिली. इसके बाद परिवार के अन्य सदस्यों को बंधन मुक्त कराया. बाघमारा डीएसपी मनीष कुमार ने पत्रकारों से कहा कि लड़की की शिकायत की जांच की जा रही है. कानून सम्मत कार्रवाई होगी. मंगलवार को तोपचांची वाटर बोर्ड में कितने ऑटो और मोटरसाइकिल प्रवेश किये, पुलिस इसकी जांच कर रही है.

TOPPOPULARRECENT