Thursday , August 17 2017
Home / Bihar/Jharkhand / झारखंड में एटीएस, आईबी, ने कटकी और अब्दुल सामी से उगलवा रहे हैं कई राज़

झारखंड में एटीएस, आईबी, ने कटकी और अब्दुल सामी से उगलवा रहे हैं कई राज़

जमशेदपुर : यहां का एक बिल्डर आतंकी संगठन अल कायदा इंडिया सबकॉन्टीनेंट के मेंबर अब्दुल रहमान कटकी का फाइनेंसर है। बिल्डर की मदद से ही कटकी यूथ्स को आतंकी ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेजता था। फिलहाल, बिल्डर का नाम बताने से पुलिस इनकार कर रही हैं। रांची और चतरा के कई लोग अल कायदा से जुड़ चुके हैं। जमशेदपुर के बिष्टुपुर थाने में झारखंड एटीएस, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल, आईबी, स्पेशल ब्रांच और जिला पुलिस ने कटकी और एक अन्य आतंकी अब्दुल सामी से अलग-अलग पूछताछ की। इस दौरान दोनों ने कई राज उगले। 

17 जनवरी, 2016 को अल कायदा का मेंबर होने के इल्जाम में सामी को हरियाणा के नूह से अरेस्ट किया गया था। सामी जमशेदपुर के धातकीडीह का रहने वाला है।  इससे पहले ओडिशा से कटकी को अरेस्ट किया गया था। कटकी और सामी दोनों दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद थे।  बिष्टुपुर थाने में इसी साल 25 जनवरी को दोनों पर FIR दर्ज हुई थी।  25 अप्रैल को उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर लेकर दिल्ली पुलिस जमशेदपुर आई।  बिष्टुपुर पुलिस ने सात दिनों की रिमांड पर लिया है। रांची और जमशेदपुर के कई लोग थे कॉन्टैक्ट में. कटकी ने बताया, संगठन में रांची, चतरा समेत झारखंड के कई लोग शामिल हैं। संगठन में सबसे ज्यादा तादाद रांची के यूथ्स की है।  कटकी कई बार रांची जा चुका है। चतरा में अबु सूफियान समेत कई लोग उसके कॉन्टैकट में थे। जमशेदपुर में भी उसकी अच्छी पकड़ थी। अब पुलिस उन लोगों का पता लगाने में जुटी है, जो कटकी के लगातार कॉन्टैक्ट में थे।

अंदर तक जुड़े हैं तार

अल कायदा से जुड़ा एक लड़का अभी सीरिया में ट्रेनिंग ले रहा है। इसकी पहचान जमशेदपुर स्थित मानगो के मो. जीशान के रूप में बताई गई है।  वहीं, जीशान का भाई मो. अर्शयान कुछ माह पहले तक सऊदी अरब में था। कटकी की अर्शयान से सऊदी अरब में मुलाकात हुई थी।  कटकी कटक (ओडिशा) का रहने वाला है।  बताया जाता है कि अल कायदा की तरफ से कटकी को झारखंड और ओडिशा में संगठन मजबूत करने की जिम्मेदारी मिली थी। वह यूथ्स में मजहबी तरीके से उकसाता था। मजहब और पैसों को लालच देकर उन्हें आतंकी संगठन में शामिल करता था। कटकी के मुताबिक, ‘झारखंड में वह संगठन को फैला रहा था। इसी दौरान उसकी मुलाकात अब्दुल सामी, अब्दुल मसूद उर्फ मोनू और नसीम अख्तर उर्फ राजू से हुई थी। राजू को उसने बेंगलुरु हथियार पहुंचाने भेजा था।’  कटकी जमशेदपुर के मानगो में मौलाना कलीम के घर में ठहरता था। पूछताछ में कटकी ने बताया कि मौलाना कलीम के घर में उसकी कई लोगों के साथ मुलाकात हुई थी। पुलिस मौलाना कलीम-कटकी के रिलेशन को खंगाल रही है।

TOPPOPULARRECENT