Sunday , August 20 2017
Home / Uttar Pradesh / देवघर में दिखे दयाशंकर, माया ने लगाया बीजेपी पर बचाने का इल्ज़ाम

देवघर में दिखे दयाशंकर, माया ने लगाया बीजेपी पर बचाने का इल्ज़ाम

मानसून सत्र में बुधवार को सदन की कार्यवाही हंगामे के साथ शुरू हुई. राज्यसभा में मायावती ने कार्यवाही शुरू होते ही दयाशंकर सिंह और मंदसौर में गौर रक्षा के नाम पर महिलाओं की पिटाई का मुद्दा उठाया. मायावती को इस मुद्दे पर सदन में कांग्रेस और दूसरी विपक्षी दलों का भी समर्थन मिला.

मायावती ने कहा, ‘दयाशंकर सिंह झारखंड में हैं और यह एक बीजेपी शासित राज्य है. इससे साफ जाहिर होता है कि बीजेपी उन्हें बचा रही है.’ मायावती ने बीजेपी पर जुबानी प्रहार करते हुए कहा, ‘बीजेपी नारा देती है- महिलाओं के सम्मान में, बीजेपी मैदान में. जबकि बीजेपी शासित मध्य प्रदेश में बीफ की अफवाह पर महिलाओं को पीटा जाता है.’ मायावती ने दलितों की पिटाई का भी मुद्दा उठाया, जिस पर सदन में जमकर हंगामा शुरू हो गया.

खबर है कि दयाशंकर मंदिर में अपने दल-बल के साथ पहुंचे थे और उन्होंने वहां पूजा भी की थी और पुरोहित के साथ तस्वीर भी खिंचवाई थी। मीडिया सूत्रों की माने तो दयाशंकर सिंह पूजा के बाद कुछ स्थानीय बीजेपी नेताओं से भी मिले थे। वो वहां कैसे आये, किससे संग आये ये बात अभी तक पता नहीं चल पायी है। वहीं दूसरी ओर उनकी पत्नी स्वाति सिंह अस्पताल में भर्ती हैं और काफी बीमारी है जबकि मायावती ने दयाशंकर सिंह को बचाने के लिए झारखंड सरकार को दोषी ठहराया है।
बता दें कि मध्यप्रदेश के मंदसौर में खुद को गौर रक्षक बताने वाले कुछ लोगों ने दो महिलाओं की पिटाई कर दी. ऐसा बीफ की अफवाह के बाद किया गया. मायावती ने राज्यसभा में कहा कि इस पूरी घटना के दौरान पुलिस मूक दर्शक बनकर खड़ी रही.

एमपी में गौ रक्षकों द्वारा महिलाओं की पिटाई के मामले पर बोलते हुए कांग्रेस नेता गलाम नबी आजाद ने कहा, ‘गौ रक्षक होने चाहिए, लेकिन उसके नाम पर बहाना करके दलित और मुसलमानों को टारगेट करो, हम इसके खि‍लाफ हैं.’

बीजेपी सांसद मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि हिंसा की घटना चाहे जिस किसी राज्य में हो निंदनीय है. उन्होंने कहा कि मायवती ने अभी जिस मुद्दे की बात की मध्य प्रदेश की सरकार ने उस पर कार्रवाई की है.

TOPPOPULARRECENT