Sunday , August 20 2017
Home / Jharkhand News / झारखंड में फर्जी ट्रेडिंग के जरिये पांच सौ करोड़ का घोटाला

झारखंड में फर्जी ट्रेडिंग के जरिये पांच सौ करोड़ का घोटाला

रांची : झारखंड की दस कंपनियों और उनके बीस डिस्ट्रिबयूटर ने मिलकर पांच सौ करोड़ रुपये का घोटाला किया है। इसका खुलासा मरकज़ी पैदावार फीस और सर्विस टैक्स के जमशेदपुर इलाकाई दफ्तर की खुफिया शाख ने किया है। रियासत के मुखतलिफ़ मुकामात में पकड़े गए इस घोटाले में ज्यादातर स्टील सेक्टर की कंपनियां और उनसे जुड़े डिस्ट्रिबयूटर शामिल हैं।

यह घोटाला फर्जी ट्रेडिंग चालान के जरिये किया गया है। इसमें माल बनाने वाला बिक्री किए बिना ही डिस्ट्रिबयूटर ने उसकी खरीद कागजों में दिखाकर पैदावार फीश की चोरी कर ली। जांच के दौरान कुछ फर्जी कंपनियों का भी पता चला है, जो सिर्फ कागजातों में ही हैं। डिस्ट्रिबयूटर ने कागजों में ही उसके पैदावार की सप्लाय दिखा दी है।

खुफिया शाख के अफसरों को इस घोटाले का पता तब चला जब वे प्रॉडक्शन फीस की क्रेडिट के एवज में डिस्ट्रिबयूटर की तरफ दस्तयाब कराए गए कागजात की जांच कर रहे थे। यह जांच गुजिशता पांच महीनों से चल रही थी। शाख के अफसरों ने जब माल प्रॉडक्शन और डिस्ट्रिबयूटर का तसदीक़ किया गया तो वे भौंचक रह गए। इसमें पांच सौ करोड़ का घोटाला और पचास करोड़ के आमदनी की चोरी का खुलासा हुआ। इसके बाद खुफिया महकमा ने इस घोटाले से जुड़े अहम कागजात जब्त कर लिए हैं।

घोटाला उजागर होने के बाद मरकज़ी प्रॉडक्शन टैक्स के जमशेदपुर दफ्तर की तरफ से प्रॉडक्शन और डिस्ट्रिबयूटर को नोटिस भेजा गया। इसके बाद सभी को समन जारी किया गया है। खुफिया ज़राये के मुताबिक पूरे मुल्क भर में यह गड़बड़ी की जा रही थी।

हां घोटाला का पता चला है। हम इसकी जांच कर रहे हैं। महकमा इस मामले में संगीन है। मुल्जिमान के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। तमाम को समन जारी किया गया है।
देवाशीष साहू, डाइरेक्टर, खूफिया ब्यूरो, मरकज़ी प्रॉडक्शन टैक्स

 

TOPPOPULARRECENT