Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / टाइगर हनीफ़ को हिंदूस्तान के हवाले करने बर्तानवी अदालत का हुक्म

टाइगर हनीफ़ को हिंदूस्तान के हवाले करने बर्तानवी अदालत का हुक्म

गुजरात में 1993 के दो बम धमाकों के सिलसिले में हिंदूस्तान को मतलूब ख़ुसूसी मफ़रूर टाइगर हनीफ़ को हिंदूस्तान के हवाले करने का बर्तानवी अदालत ने आज हुक्म जारी कर दिया। 1993 के बाद से नई दिल्ली को बर्तानिया से पहली हवालगी में कामयाबी मिली ह

गुजरात में 1993 के दो बम धमाकों के सिलसिले में हिंदूस्तान को मतलूब ख़ुसूसी मफ़रूर टाइगर हनीफ़ को हिंदूस्तान के हवाले करने का बर्तानवी अदालत ने आज हुक्म जारी कर दिया। 1993 के बाद से नई दिल्ली को बर्तानिया से पहली हवालगी में कामयाबी मिली है। 51 साला टाइगर हनीफ़ जिन का पूरा नाम मुहम्मद हनीफ़ अमरजी पटेल है, को मार्च 2010 में ग्रेटर मैनचेस्टर के बोल्टन इलाक़ा में एक स्टोर से गिरफ़्तार किया गया था।

बताया जाता है कि वो अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहीम के साथी हैं। टाइगर हनीफ़ की हवालगी के काग़ज़ात मोतमिद दाख़िला थरीसा के दफ़्तर को पहूंच गए हैं जहां उन की हवालगी को क़तई मंज़ूरी दी जाएगी। कल लंदन की अदालत ने उन्हें हिंदूस्तान के हवाले करने का हुक्म दिया था। क्राउन इस्तेग़ासा सर्विस के तर्जुमान ने बताया कि वेस्ट मिनिस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की जानिब से उन की हवालगी के अहकाम के बाद ये केस हिंदूस्तान हवाले करने क़तई मंज़ूरी के लिए दाख़िला सेक्रेटरी के दफ़्तर पहुंचा है।

हवालगी क़ानून 2003 के मुताबिक़ हिंदूस्तान को हवाले करने के उसूल-ओ-क़वाइद पर अमल किया जाएगा। टाइगर हनीफ़ को अपनी हवालगी अहकाम के ख़िलाफ़ अपील दायर करने के लिए 14 दिन की मोहलत दी गई है। टाइगर हनीफ़ 1993 में गुजरात के अंदर दो बम धमाकों के लिए हिंदूस्तान को मतलूब थे। सूरत में हुए बम धमाके में 8 साल की स्कूल तालिबा हलाक हुई थी। हिंदूस्तान ने दिसम्बर 1993 में ही बर्तानिया से हवालगी मुआहिदा पर दस्तख़त की थी। टाइगर हनीफ़ ने एक और धमाका रेलवे स्टेशन पर किया था जिस में 12 मुसाफ़िर ज़ख्मी हुए थे।

गुज़श्ता कई साल के दौरान हिंदूस्तान में मतलूब बेशतर मुल्ज़िमीन बिशमोल वो लोग जो खालिस्तान तहरीक से ताल्लुक़ रखते हैं, बर्तानिया में पनाह हासिल किए हुए हैं। लेकिन उन्हें वापस लाने की कोशिशों को मुख़्तलिफ़ वजूहात की बिना अब तक कामयाबी नहीं मिल सकी।

TOPPOPULARRECENT