Thursday , August 17 2017
Home / India / टाटा संस के डायरेक्टर “अगस्टा वेस्टलैंड घोटाले” में थे शामिलः साइरस मिस्त्री

टाटा संस के डायरेक्टर “अगस्टा वेस्टलैंड घोटाले” में थे शामिलः साइरस मिस्त्री

टाटा ग्रुप के चेयरमैन पद से साइरस मिस्त्री को हटाए जाने के बाद शुरु हुआ विवाद थमने का नाम नही ले रहा है। इसी कड़ी में रविवार को साइरस मिस्त्री ने टाटा संस के डायरेक्टर विजय सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं। साइरस मिस्त्री के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है कि साल 2010 में 3600 करोड़ रुपए के अगस्टा वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटले में विजय सिंह की मुख्य भूमिका थी।

बता दें कि विजय सिंह रक्षा सचिव रह चुके हैं और साइरस मिस्त्री ने उसी समय घोटाले में उनकी भूमिका पर सवाल उठाए हैं। वहीं विजय सिंह ने खुद पर लगे आरोपों को यह कहकर खारिज कर दिया कि उनके रिटायरमेंट के बाद हेलिकॉप्टर डील हुई थी। ऐसे में उनके घोटाले में शामिल होने का सवाल ही नही उठता।

गौरतलब है कि विजय सिंह टाटा संस के नॉमिनेशन एंड रिम्यूनरेशन कमेटी के सदस्य थे, और मिस्त्री को हटाए जाने के समय उन्होंने मिस्त्री की परफॉर्मेंस पर रिपोर्ट दी थी।

क्या है अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाला

वीवीआईआई हेलिकॉप्टर अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में इटली की एक अदालत का फैसला आया था। फैसले में कहा गया था कि 53 करोड़ डॉलर का ठेका पाने के लिए कंपनी ने भारतीय अधिकारियों को 100-125 करोड़ रुपये तक की रिश्वत दी थी। इतालवी कोर्ट के फैसले में पूर्व आईएएफ चीफ एस पी त्यागी का भी नाम सामने आया है।

इटली सरकार के द्वारा की गई जांच में कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। जांच में पता लगा कि अगस्ता वेस्टलैंड के तत्कालीन चेयरमैन और कंपनी से जुड़े अन्य अधिकारियों ने गाइडो हेश्क और कुछ भारतीय बिचौलियों के जरिए रिश्वत देकर यह डील पक्की की थी।

सरकारी वकीलों का आरोप था कि इन बिचौलियों ने यह पैसा भारतीय वायुसेना के तत्कालीन प्रमुख एसपी त्यागी तक पहुंचाया था। जांचकर्ताओं के मुताबिक एसपी त्यागी तक यह पैसा उनके चचेरे भाइयों के मार्फत भेजा गया था। जांच अधिकारियों का यह भी आरोप था कि इस पैसे के बदले एसपी त्यागी ने टेंडर की शर्तों को बदलवा दिया जिससे अगस्ता वेस्टलैंड यह डील पाने में सफल हुई।

TOPPOPULARRECENT