Tuesday , October 24 2017
Home / Uttar Pradesh / टाटा स्टील: बिजली की कड़क से पैदावार मुतासिर

टाटा स्टील: बिजली की कड़क से पैदावार मुतासिर

जमशेदपुर 8 जून : शहर में जुमा की शाम हुई तेज थंडरिंग (बिजली की कड़क) का खासा असर टाटा स्टील पर पड़ा। शाम पांच बजे हुई तेज बारिश और लाइटनिंग के बाद टाटा स्टील में बिजली की सप्लाई अचानक ठप हो गयी।

जमशेदपुर 8 जून : शहर में जुमा की शाम हुई तेज थंडरिंग (बिजली की कड़क) का खासा असर टाटा स्टील पर पड़ा। शाम पांच बजे हुई तेज बारिश और लाइटनिंग के बाद टाटा स्टील में बिजली की सप्लाई अचानक ठप हो गयी।

कंपनी के स्टील मेल्टिंग शॉप, लैडल फर्नेस और रोलिंग मिल में पैदावार तकरीबन नहीं हो पाया। शाम करीब साढ़े सात बजे फिर से एक-एक यूनिट कर बिजली की फ्राहमी को बहाल करने की अमल शुरू की गयी। इसके बाद कुछ हद तक पैदावार शुरू हुआ, लेकिन देर रात तक हालत पूरी तरह आम नहीं हो पायी थी।

इसका अंदाजा देर रात तक नहीं लगाया जा सका है कि आखिर इस सूरते हाल की वजह कंपनी को कितना नुकसान हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक, डीवीसी से टाटा स्टील के पावर सिस्टम में बिजली आती है। शाम पांच बजे हुई लाइटनिंग के बाद अचानक बिजली का मजमुआ ही कट गया। काफी मशक्कत के बाद डीवीसी से राब्ता शुरू किया गया। दूसरी तरफ, थंडरिंग और लाइटनिंग के वजह शहर में भी कई इलाके में बिजली की फ्राहमी करीब आधे घंटे के लिए ठप हो गयी थी। बाद में सूरते हाल को दुरुस्त कर लिया गया।

हालात मामुल करने में टीम लगी है : टाटा स्टील

“लाइटनिंग और वोल्टेज में आयी गिरावट की वजह यह परेशानी पैदा हुई थी। डीवीसी पावर सप्लाइ के अलग हो जाने की वजह से स्टील मेल्टिंग शॉप, लैडल फर्नेस और रोलिंग मिल में दिक्कत हुई है, लकिन शाम साढ़े सात बजे तक हालात ठीक होने लगे थे। एक से दो घंटे के भीतर हालात मामुल हो जायेगी।”
-प्रभात शर्मा, प्रवक्ता, टाटा स्टील

TOPPOPULARRECENT