Monday , August 21 2017
Home / Delhi News / टिकट न मिलने पर भागे-भागे फ़िर रहे हैं दिल्ली के मौजूदा पार्षद, PM मोदी से लगाई गुहार

टिकट न मिलने पर भागे-भागे फ़िर रहे हैं दिल्ली के मौजूदा पार्षद, PM मोदी से लगाई गुहार

नई दिल्ली: दिल्ली में 22 अप्रैल को नगर निगम का चुनाव होने जा रहे हैं। लेकिन भाजपा ने चुनाव में किसी भी मौजूद पार्षद को टिकट देने से इंकार दिया है।

इसी कारण पार्टी के पार्षद भाजपा के नेताओं से मदद मांग रहे हैं। यहा तक कि भाजपा के फैसले से परेशान पार्षद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की गुहार लगा रहे हैं। नितिन गडकरी से पार्षद संध्या वर्मा मिलने पहुंची और कहा कि उन्होंने अपने परिवार से ज़्यादा काम पर ध्यान दिया है वे इस बारे में प्रधानमंत्री से बात करना चाहती हैं।

कल यानी मंगलवार को लगभग 100 पार्षदों ने नगर निगम मुख्यालय में बैठक की और फिर एक एक करके सांसद महेश गिरी, प्रवेश वर्मा, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल और दिल्ली बीजेपी के प्रभारी श्याम जाजू से मुलाकात भी की।

बुधवार को तमाम पार्षदों ने नितिन गडकरी से और फिर प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी से गुहार लगाई। बड़े नेताओं ने पार्षदों को दिलासा तो दिया लेकिन बीजेपी अपने फैसले को बदलेगी ये मुश्किल लग रहा है।

आपको बता दें कि दिल्ली की तीनों नगर निगमों को मिला कर बीजेपी के 272 में से 153 पार्षद हैं। भाजपा पिछले दस सालों से एमसीडी पर काबिज है।

माना जा रहा है कि जनता की नाराजगी के कारण पार्टी ने अपने पार्षदों पर सर्जिकल स्ट्राइक किया है। पार्टी के इस कठोर फैसले को लेकर फिलहाल पार्षद खुल कर बगावत तो नहीं कर रहे लेकिन उनकी घुमाव बातों से साफ है कि बात नहीं बनी तो कई बीजेपी पार्षद निर्दलीय या फिर दूसरी पार्टियों से मैदान में उतर सकते हैं।

यानि बीजेपी का यह फैसला उल्टा पड़ सकता है। हालांकि पार्षदों के टिकट काटने का सफल प्रयोग बीजेपी गुजरात में कर चुकी है। इसी के साथ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का दावा है कि कई बीजेपी पार्षद उनके संपर्क में हैं।

95 फीसदी टिकट बांट चुकी आप ने एक बीजेपी पार्षद को भी टिकट दिया है। वहीं दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजेन्द्र पाल बग्घा ने कहा कि पार्षद अपनी तरफ से कोशिश कर रहे हैं, लेकिन पार्टी का आखिरी फैसला हर किसी को मानना होगा।

TOPPOPULARRECENT