Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / टिक्टस की तक़सीम में समाजी इंसाफ़ का इद्दिआ

टिक्टस की तक़सीम में समाजी इंसाफ़ का इद्दिआ

हैदराबाद ०६ मई (सियासत न्यूज़) प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रियासत के 18 असैंबली हलक़ों के ज़िमनी इंतिख़ाबात में चार हलक़ों में ख़वातीन बिशमोल एक मुस्लिम ख़ातून को उम्मीदवार बनाने का ख़ैर मुक़द्दम किया और ख़वातीन की फ़लाह-ओ-बहबूद के

हैदराबाद ०६ मई (सियासत न्यूज़) प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने रियासत के 18 असैंबली हलक़ों के ज़िमनी इंतिख़ाबात में चार हलक़ों में ख़वातीन बिशमोल एक मुस्लिम ख़ातून को उम्मीदवार बनाने का ख़ैर मुक़द्दम किया और ख़वातीन की फ़लाह-ओ-बहबूद के बारे में बुलंद दावे करनेवाली तलगोदीशम पर एक ख़ातून को भी टिकट ना देने का इल्ज़ाम आइद किया।

बेशतर हलक़ों में कांग्रेस की कामयाबी को यक़ीनी क़रार दिया। आज गांधी भवन में प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए कांग्रेस के तर्जुमान डाक्टर एन तुलसी रेड्डी ने ये बात बताई। इस मौक़ा पर मीडीया को आर्डीनेटर मिस्टर वयदा वयास भी मौजूद थी। डाक्टर एन तुलसी रेड्डी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने टिक्टों की तक़सीम में समाजी इंसाफ़ किया है।

लोक सभा हलक़ा नैलोर से कांग्रेस उम्मीदवार टी सिबी राम रेड्डी भारी अक्सरीयत से कामयाबी हासिल करेंगी। उन्हों ने कहा कि कांग्रेस के दौर-ए-हकूमत में ही ख़वातीन के साथ इंसाफ़ हुआ है।मुक़ामी इदारों में ख़वातीन को 33 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात कांग्रेस पार्टी ने दिए हैं। गवर्नर के कोटा से नामज़द होने वाले क़ानूनसाज़ कौंसल के अरकान में डाकरा ग्रुप की ख़ातून का भी अनतख़ाबा किया गया है।

कांग्रेस दौर-ए-हकूमत में ही ख़वातीन को 25 पैसे शरह सूद पर क़र्ज़ दिया गया। जारीया साल जनवरी से ख़वातीन को बलासू दी क़र्ज़ दिया जा रहा ही। 1044 इस्त्री शक्ति भवन तामीर किए जा रहे हैं। तलगो देशम दौर-ए-हकूमत में आंगन वाड़ी सैंटरस में ख़िदमात अंजाम देने वाले वर्कर्स को तेलगु देशम दौर-ए-हकूमत में सिर्फ एक हज़ार रुपय माहाना दिया जाता था। इन के मुआविन अरकान को पाँच सौ रुपय दिए जाते थी। इन आंगन वाड़ी वर्कर्स ने जब मुआवज़ा में इज़ाफ़ा का मुतालिबा किया तो उन्हें घोड़ों से कुचला गया था। कांग्रेस पार्टी इक़तिदार में आते ही आंगन वाड़ी वर्कर्स के माहाना मुआवज़ा को 3700 रुपय और मुआविन वर्क़्स के लिए 1950 रुपय करदिया और आंगन वाड़ी सैंटरस में मज़ीद 33 हज़ार का इज़ाफ़ा किया गया।

रियास्ती वज़ीर-ए-सेहत डी ईलरवींद्र रेड्डी की जानिब से चीफ़ मिनिस्टर को मुख़्बिर कहने के सवाल का जवाब देने से उन्हों ने इनकार कर दिया।

TOPPOPULARRECENT