Friday , October 20 2017
Home / India / टीम अन्ना की साख ही क्या है ,किरण बेदी , राम देव और अरविंद केजरीवाल पर इल्ज़ामात : नारायण स्वामी

टीम अन्ना की साख ही क्या है ,किरण बेदी , राम देव और अरविंद केजरीवाल पर इल्ज़ामात : नारायण स्वामी

टीम अन्ना को सख़्त तरीन तन्क़ीदी हमलों का निशाना बनाते हुए मर्कज़ी वज़ीर ( Union Minister)वी नारायण स्वामी ने इल्ज़ाम आइद किया कि अन्ना हज़ारे मुल़्क दुश्मन अनासिर के नरग़े में फंस गए हैं और उन्हें बैरूनी कुव्वतों की ताईद हासिल है।

टीम अन्ना को सख़्त तरीन तन्क़ीदी हमलों का निशाना बनाते हुए मर्कज़ी वज़ीर ( Union Minister)वी नारायण स्वामी ने इल्ज़ाम आइद किया कि अन्ना हज़ारे मुल़्क दुश्मन अनासिर के नरग़े में फंस गए हैं और उन्हें बैरूनी कुव्वतों की ताईद हासिल है।

वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर में मुमलिकती वज़ीर ( Union Minister) नारायना स्वामी ने आज चेन्नई एयर पोर्ट पर अख़बारी नुमाइंदों ( पत्रकारों) से बातचीत करते हुए कहा कि अन्ना एक सीधे साधे आदमी हैं, लेकिन वो ऐसे क़ौम दुश्मन अनासिर के नरग़े में फंस गए हैं जिन्हें बैरूनी कुव्वतों की ताईद-ओ-मदद हासिल है।

नारायना स्वामी ने टीम अन्ना के अरकान अरविंद केजरीवाल और किरण बेदी की मुज़म्मत की और ये दरयाफ्त किया कि गुज़शता ( पिछले ) साल (इंसिदाद रिश्वत सतानी ) एजीटशन ( आंदोलन) के दौरान जमा कर्दा भारी रक़ूमात कहां गईं। उन्होंने मज़ीद ( इसके अलावा) कहा कि किरण बेदी ख़ुद सफ़री रसाइद में हेर फेर के इल्ज़ामात का सामना कर रही हैं।

नारायना स्वामी ने इल्ज़ाम आइद किया कि ख़ुदसाख़ता लीडरों की एक टोली ने जिन्हें अवाम की कोई ताईद ( मदद) हासिल नहीं है, और ना ही उन्होंने कभी कोई इंतिख़ाब ( चुनाव) का सामना किया है, लेकिन सिर्फ हुकूमत को ग़ैर मुस्तहकम बनाना चाहते हैं।

टीम अन्ना और योगा गुरु राम देव को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए नारायण स्वामी ने मज़ीद कहा कि इस टोली ने रिश्वत सतानी और काले धन के मसला पर हुकूमत के ख़िलाफ़ एक ताज़ा मुहिम (अभीयान/आंदोलन) छेड़ दी है। मर्कज़ी वज़ीर ने इसरार (किया कि मर्कज़ी हुकूमत काले धन को वापस लाने के लिए तमाम ज़रूरी इक़दामात ( कार्य) कर रही है और वो हाल ही में काले धन पर वाईट पेपर जारी कर चुकी है।

मिस्टर नारायना स्वामी ने कहा कि ये एक तवील (लंबा) अमल है, क्योंकि इसमें कई मुताल्लिक़ा मुल्कों ( संबंध रखने वाले देशों) की हुकूमतों के साथ काम करना पड़ता है और चंद दूसरे भी ज़ाबते होते हैं जिन की पाबंदी ज़रूरी है। नारायना स्वामी ने इस ज़िमन में ख़ुद योगा गुरु राम देव और टीम अन्ना के दीगर ( दूसरे) अरकान की साख के बारे में कई सवालात उठे।

कोयला की कानकनी ( Mining), ब्लाक्स में बे क़ाईदगियों के इल्ज़ामात पर उन्होंने कहा कि मनमोहन सिंह की ज़ेर-ए-क़ियादत हुकूमत शफ़्फ़ाफ़ ( साफ सुथरी) है। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया ( आरोप लगाया) कि एन डी ए हुकूमत में कोई शफ़्फ़ाफ़ियत नहीं थी।

TOPPOPULARRECENT