Saturday , September 23 2017
Home / Entertainment / टीवी पर बैठी एक दो औरतें यह तय नहीं कर सकतीं कि मुस्लिम महिलायें तीन तलाक के विरोध में हैं: नगमा

टीवी पर बैठी एक दो औरतें यह तय नहीं कर सकतीं कि मुस्लिम महिलायें तीन तलाक के विरोध में हैं: नगमा

MEERUT, INDIA - MARCH 24: Lok Sabha election candidate from Meerut Nagma addresses press conference on March 24, 2014 in Meerut, India. Congress MLA Gaj Raj Sharma allegedly publicly tried to misbehave with Meerut candidate and actor Nagma while she was attending an election rally in Hapur. (Photo by Chahat Ram/Hindustan Times via Getty Images)

नई दिल्ली। पूर्व बोलीवुड अभिनेत्री और कांग्रेस की स्टार प्रचारक नगमा से ट्रिपल तलाक़ के मामले में पूछे जाने पर कहा कि बस टीवी पर एक दो महिलाओं को बैठाकर डिबेट करने का मतलब यह नहीं है कि सारी मुस्लिम औरतें तीन तलाक के विरोध में हैं। उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार वैसे भी किसी भी काम को केवल शुरू करती है अंजाम तक कभी नहीं पहुंचा पाती। उन्होंने कहा पहले जो वादे किए हैं वह तो पूरा करो।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

आईबीएन खबर के अनुसार उन्होंने ट्रिपल तलाक़ पर आगे कहा कि कोई भी चीज़ ऐसे कैसे खत्म की जा सकती है पहले इस पर बहस होनी चाहिए, वैसे भी हुकूमत तो कितने काम करने की बातें करती हैं लेकिन करती तो कुछ नहीं है, जब हुकूमत को कुछ करना ही नहीं है तो किसी भी मामले पर बात क्यूँ करती है, वैसे भी क्या सारी औरतें तीन तलाक के विरोध में हैं। बस टीवी पर एक दो महिलाओं को बैठाकर डिबेट करने का मतलब यह नहीं है कि सारी मुस्लिम औरतें तीन तलाक के विरोध में हैं।
उल्लेखनीय है कि तीन तलाक को लेकर आजकल काफी चर्चा चल रही है, एक तरफ केंद्र सरकार इस व्यवस्था को खत्म करने की बात कर रही है तो वहीं कई मुस्लिम संगठनों ने तीन तलाक को समाप्त करने का विरोध किया है।
दरअसल, तीन तलाक के एक मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा था कि वह समान नागरिक संहिता पर क्या सोचती है? इसके बाद कानून मंत्रालय ने विधि आयोग से इस मामले में रिपोर्ट देने को कहा था। केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे पर जवाब देना है। इन्हीं सवालों ने मुस्लिम संगठनों को नाराज कर दिया है।

TOPPOPULARRECENT