Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / टी आर ऐस, राय दही तक असेंबली में क़दम नहीं रख्खे गी

टी आर ऐस, राय दही तक असेंबली में क़दम नहीं रख्खे गी

टी आर ऐस रुक्न असेंबली हरीश राव ने ऐलान किया कि 18 मार्च को ज़िमनी इंतिख़ाबात की राय दही तक टी आर ऐस असेंबली में क़दम नहीं रख्खे गी । उन्हों ने कहा कि तेलंगाना के मसला पर आवाज़ उठाने के जुर्म में टी आर ऐस अरकान असेंबली को मुअत्तल किय

टी आर ऐस रुक्न असेंबली हरीश राव ने ऐलान किया कि 18 मार्च को ज़िमनी इंतिख़ाबात की राय दही तक टी आर ऐस असेंबली में क़दम नहीं रख्खे गी । उन्हों ने कहा कि तेलंगाना के मसला पर आवाज़ उठाने के जुर्म में टी आर ऐस अरकान असेंबली को मुअत्तल किया गया, हालाँकि असेंबली में तेलगू देशम और कांग्रेस ने क़रारदाद की पीशकशी की ताईद की थी।

उन्हों ने कहा कि ज़िमनी इंतिख़ाबात की इंतेख़ाबी मुहिम में टी आर ऐस अरकान असेंबली मसरूफ़ होचुके हैं और वो असेंबली के बाहर अवाम के ज़रीया तेलंगाना का फ़ैसला करेंगे। उन्हों ने कहा कि ज़िमनी इंतिख़ाबात के नताइज तेलंगाना अवाम के जज़बात के तर्जुमान होंगे। कांग्रेस ने इक़तिदार के नशे में टी आर ऐस अरकान असेंबली को ऐवान से मुअत्तल किया है और आने वाले दिनों में अवाम कांग्रेस को इक़तिदार से बेदख़ल करदेंगे।

हरीश रावने कहा कि कांग्रेस और तेलगू देशम को अवाम से वोट मांगने का कोई हक़ नहीं है, क्योंकि तेलंगाना मसला पर दोनों जमातों का मौक़िफ़ ग़ैर वाज़ेह है। 2009 के बाद से उन जमातों ने तेलंगाना मसला पर बारहा अपना मौक़िफ़ तबदील किया। इन जमातों के तेलंगाना क़ाइदीन अवाम के रूबरू बलंद बाँग दावे करते रहे,

लेकिन असेंबली में जब ताईद का मरहला आया तो वो ख़ामूश हो गए। वोज़ारतों को बचाने के लिए तेलंगाना वुज़रा ने हुकूमत से समझौता करलिया। बाअज़ तेलंगाना के अरकान असेंबली ने अहम ओहदे हासिल करते हुए अवाम के साथ ग़द्दारी की है।

TOPPOPULARRECENT