Monday , August 21 2017
Home / Entertainment / टोरंटो इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल में सम्‍मानित होंगी प्रियंका चोपड़ा

टोरंटो इंटरनेशनल फिल्‍म फेस्टिवल में सम्‍मानित होंगी प्रियंका चोपड़ा

नई दिल्‍ली: प्रियंका चोपड़ा छह सितंबर को आयोजित होने वाले टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (टीआईएफएफ) में सम्मानित होंगी. वेबसाइट ‘हॉलीवुड रिपोर्टर डॉट कॉम’ के मुताबिक, बेल लाइटबॉक्स में आयोजित होने वाले फिल्मोत्सव के 42वें संस्करण में प्रियंका इस महोत्सव के कलात्मक निर्देशक कैमरून बेली के साथ चर्चा में शामिल होंगी. वह बॉलीवुड आइकन के रूप में अपने करियर के बारे में बात कर सकती हैं. बॉलीवुड में 2009 से लेकर वर्ष 2014 तक राज कर चुकीं प्रियंका ने धारावाहिक ‘क्वांटिकों’ और फिल्म ‘बेवॉच’ से हॉलीवुड में कदम रखा. 18 जुलाई को अपना 35वां जन्‍मदिन मना चुकी प्रियंका इन दिनों अपने परिवार के साथ सीक्रेट वेकेशन मना रही हैं. समुद्र के किनारे परिवार के साथ घूमती प्रियंका ने अपने बर्थडे के कई फोटो सोशल मीडिया पर शेयर किए हैं.

प्रियंका पिछले साल टीआईएफएफ प्रतियोगिता के लिए लघु फिल्मों के एक निर्णायक मंडल में ‘सेल्मा’ के निर्देशक आवा डुवर्ने और साथी अभिनेता जेम्स फ्रैंको और बेन रिचर्डसन के साथ शामिल हुईं थीं. टोरंटो प्रियंका की सक्रियता के लिए भी उन्हें सम्मानित करेगा. टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव सात सितंबर से 17 सितंबर तक चलेगा.

बता दें कि प्रियंका चोपड़ा को ‘टीन च्वाइस पुरस्कार-2017’ में खलनायक श्रेणी में भी नामांकित किया गया है और प्रियंका अपनी इस उपलब्‍धिक पर भी काफी खुश और एक्‍साइटेड हैं. आईएएनएस के अनुसार प्रियंका का कहना है कि यह उनके लिए काफी मायने रखता है. हॉलीवुड फिल्म ‘बेवॉच’ के लिए नामांकित हुईं प्रियंका ने ट्विटर पर भी अपनी खुशी जाहिर की है. सेठ गॉर्डन द्वारा निर्देशित फिल्म ‘बेवॉच’ में मारधाड़ और कॉमेडी का तड़का है. यह इसी नाम के टेलीविजन धारावाहिक पर आधारित है. प्रियंका ने इस फिल्‍म में विक्टोरिया लीड्स का नेगेटिव रोल किया था, जिसके लिए उनकी खासी तारीफ भी हुई थी. ‘बेवॉच’ के बाद अब प्रियंका अपनी दूसरी हॉलीवुड फिल्‍म ‘इजंट इट रोमांटिक’ की शूटिंग भी शुरू कर चुकी हैं.

प्रियंका की उपलब्धियों में हाल ही में एक और उपलब्धि जुड़ी है. वह अकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर ऑफ आर्ट्स एंड साइंस (एएमपीएस) की नई सदस्य बनी हैं. प्रियंका चोपड़ा ने कहा है कि ऑस्कर अकेडमी को विदेशी फिल्मों के लिए श्रेणियां बढ़ानी चाहिए.

TOPPOPULARRECENT