Tuesday , July 25 2017
Home / International / ट्विटर ने आतंक को बढ़ावा देने वाले 636,000 खाते ब्लॉक किये

ट्विटर ने आतंक को बढ़ावा देने वाले 636,000 खाते ब्लॉक किये

आतंक को बढ़ावा देने का हवाला देते हुए माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर के 636000 खातों को ब्लॉक कर दिया है। ट्विटर ने घोषणा की है कि साल 2015 के बाद से 636,248 खातों को निलंबित कर दिया गया है क्योंकि यह आतंकवाद को बढ़ावा देने के प्रयासों में लिप्त थे। मंगलवार को प्रकाशित अपनी नवीनतम पारदर्शिता रिपोर्ट में कंपनी ने कहा कि साल 2016 के अंतिम छह महीनों में 376,890 खाते बंद किये गए थे। इस कदम के रूप में सामाजिक नेटवर्क पर धार्मिक हिंसा को बढ़ावा देने वाले व्यक्तियों को ब्लॉक करने के लिए दुनिया भर की सरकारों के दबाव में हैं इसलिए यह कार्रवाई की गई है और भविष्य में भी जारी रहेगी।

 

 

 
माइक्रोब्लॉगिंग मंच ने यह घोषणा की कि एफबीआई ने कंपनी को इसको लेकर सूचित किया था कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा मामलों को देखते हुए इन खातों पर रोक लगाए जिसके नतीजे में ट्विटर ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। हम राष्ट्रीय सुरक्षा अनुरोधों के बारे में भविष्य में पारदर्शिता रिपोर्टों में इस नए अनुभाग को अपडेट कर अधिक पारदर्शिता के लिए आगे बढ़ना जारी रखेंगे। सैन फ्रांसिस्को स्थित कंपनी ने घोषणा की कि पिछले 6 महीनों की अवधि में उपयोगकर्ता डेटा के लिए सरकारी अनुरोधों की संख्या में सात प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

 

 

 

इसे सत्यापित पत्रकारों या समाचार आउटलेट्स द्वारा पोस्ट की गई सामग्री को निकालने के लिए दुनियाभर के 88 कानूनी अनुरोध प्राप्त हुए लेकिन जर्मनी और तुर्की में सीमित अपवादों के साथ अधिकांश लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई जिसने ऐसे 88 प्रतिशत अनुरोधों का जवाब दिया। उदाहरण के लिए हमें न्यायालय आदेश के जवाब में तुर्की में आतंकवादी हमलों के बाद ग्राफिक इमेजरी साझा करने वाले ट्वीट्स को रोकना पड़ा।

 

 

 

ट्विटर पर नफरत करने वाले भाषण को हटाने के लिए कुछ सरकारों द्वारा दबाव डाला गया है। पहली बार किसी तीसरे पक्ष के शोध समूह लुमैन के साथ एक साझेदारी को किसी भी जानकारी को हटाए जाने की सूची में सूचीबद्ध करने के लिए भी खुलासा किया गया। कंपनी ने कहा कि ऐसी सामग्री को हम रोकते हैं जो आतंक से जुडी हो।

TOPPOPULARRECENT