Monday , October 23 2017
Home / World / ड्रोन हमले हक़ बाजानिब, कार्रवाई हस्बे क़ानून – अमरीका

ड्रोन हमले हक़ बाजानिब, कार्रवाई हस्बे क़ानून – अमरीका

अमरीकी इंतेज़ामीया ने हुक़ूक़े इंसानी के लिए सरगर्म बैनुल अक़वामी तंज़ीम एमनेस्टी इंटरनेशनल की पाकिस्तान में ड्रोन हमलों से मुताल्लिक़ रिपोर्ट में किए गए दावों से इख़्तिलाफ़ किया हैं। बर्तानिया में क़ायम तंज़ीम ने मंगल को अपनी ताज़

अमरीकी इंतेज़ामीया ने हुक़ूक़े इंसानी के लिए सरगर्म बैनुल अक़वामी तंज़ीम एमनेस्टी इंटरनेशनल की पाकिस्तान में ड्रोन हमलों से मुताल्लिक़ रिपोर्ट में किए गए दावों से इख़्तिलाफ़ किया हैं। बर्तानिया में क़ायम तंज़ीम ने मंगल को अपनी ताज़ा रिपोर्ट में ड्रोन हमलों से मुताल्लिक़ राज़दारी को ख़त्म करने का मुतालिबा करते हुए कहा था कि इन कार्यवाईयों में अमरीका ने इंसानी हुक़ूक़ की बज़ाहिर निहायत संगीन ख़िलाफ़ वर्ज़ीयां की हैं, जो जंगी जराइम के मुतरादिफ़ भी हो सकती हैं।

वाईट हाऊस के तर्जुमान जे कारिणी ने कहा कि अमरीका इन दावों से सख़्त इख़्तिलाफ़ करता है कि ड्रोन हमले बैनुल अक़वामी क़्वानीन की ख़िलाफ़वर्ज़ी हैं। एमनेस्टी की रिपोर्ट में जनवरी 2012 से अगस्त 2013 के दरमयानी अर्सा में पाकिस्तान के क़बाइली इलाक़े शुमाली वज़ीरस्तान में 45 ड्रोन हमलों से होने वाले नुक़्सानात का अहाता किया गया, जिन में शहरी हलाकतें भी शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT