Tuesday , October 17 2017
Home / Islami Duniya / ड्रोन हमलों पर इमतिना से अस्करीयत पसंद दुबारा मुनज़्ज़म: अमरीकी अख़बार

ड्रोन हमलों पर इमतिना से अस्करीयत पसंद दुबारा मुनज़्ज़म: अमरीकी अख़बार

कराची 9 जनवरी (एजैंसीज़) पाकिस्तान के क़बाइली इलाक़ों में ड्रोन हमलों पर इमतिना से अस्करीयत पसंद दुबारा मुनज़्ज़म हो रहे हैं, उन्हों ने पाकिस्तानी फ़ौज पर हमले तेज़ करदिए हैं, ड्रोन हमले रोकने से अफ़्ग़ानिस्तान में इत्तिहादी अ

कराची 9 जनवरी (एजैंसीज़) पाकिस्तान के क़बाइली इलाक़ों में ड्रोन हमलों पर इमतिना से अस्करीयत पसंद दुबारा मुनज़्ज़म हो रहे हैं, उन्हों ने पाकिस्तानी फ़ौज पर हमले तेज़ करदिए हैं, ड्रोन हमले रोकने से अफ़्ग़ानिस्तान में इत्तिहादी अफ़्वाज के ख़िलाफ़ हमलों का ख़तरा बढ़ गया है।नवंबर में पाकिस्तानी फ़ौजी चौकी पर अमरीकी हमले के वाक़िया से अस्करीयत पसंद भरपूर फ़ायदा उठा रहे हैं।सी आई ए पाकिस्तान से बेहतर ताल्लुक़ात की उम्मीद में ड्रोन हमले नहीं कर रही है।

अमरीकी रोज़नामा न्यूयार्क टाईम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ अमरीकी और पाकिस्तानी ओहदेदारों का कहना है कि पाकिस्तान में तक़रीबन दो माह से ड्रोन हमलों पर पाबंदी अलक़ायदा और कई पाकिस्तानी अस्करीयत पसंद गिरोहों को दुबारा मुनज़्ज़म होने करने में मदद दे रही है जिस से पाकिस्तानी फ़ौज के ख़िलाफ़ हमलों में इज़ाफ़ा हो गया है और अफ़्ग़ानिस्तान में इत्तिहादी फ़ौजों के ख़िलाफ़ हमले तेज़ होने का ख़तरा में इज़ाफ़ा भी हो गयाहै।

नवंबर में पाकिस्तानी फ़ौजी चौकी पर अमरीकी फ़िज़ाई हमले के बाद से पाक अमरीका ताल्लुक़ात इंतिहाई कशीदगी पर पहुंच चुके हैं और इस कशीदगी से अस्करीयत पसंद भरपूर फ़ायदा उठाने की कोशिश कररहे हैं। अमरीकी मर्कज़ी इन्टैलीजन्स एजैंसी(सी आई ए )को उम्मीद है कि-ओ-ह पाकिस्तान के साथ ताल्लुक़ात को बदतर होने से बचा लेंगे जब कि पाकिस्तान अमरीका के साथ सलामती ताल्लुक़ात का वसीअ पैमाना पर जायज़ा ले रहा है ,सी आई ए ने पाकिस्तान से बेहतर ताल्लुक़ात की ख़ातिर वस्त नवंबर से ड्रोन हमले बंद करदिए हैं।

रोज़नामा के मुताबिक़ सिफ़ारत कारों और इन्टैलीजन्स तजज़िया कारों का कहना है कि सी आई ए ने मिज़ाईल हमले रोक कर अस्करीयत पसंदी की तहरीक को आज़ादी दे दी है जिस की ड्रोन हमलों की वजह से कमर टूट गई थी।गुज़श्ता हफ़्तों में कई अस्करीयत पसंद गिरोहों ने अपने इख़तिलाफ़ात को ख़तम करके दुबारा गठजोड़ शुरू करदिया है।

कई दीगर अस्करीयत पसंद गिरोहों ने पाक अफ़्वाज पर हमले शुरू करदिए हैं जिस की हालिया मिसाल गुज़शता हफ़्ते तालिबान अस्करीयत पसंदों की जानिब से 15 सैक्योरिटी फ़ौजीयों का अग़वा और उन काक़तल है। गुज़श्ता बरसों की बनिसबत क़बाइली इलाक़ों में परतशद्दुद कार्यवाईयों में 2011मैं दस फ़ीसद इज़ाफ़ा हवा में 17 ड्रोन हमले हुए और 2011 में इन हमलों में 4फ़ीसद कमी आई।

TOPPOPULARRECENT