Sunday , October 22 2017
Home / Khaas Khabar / तनिश्क चोरी में इन्टर स्टेट गैंग!

तनिश्क चोरी में इन्टर स्टेट गैंग!

तनिष्क ज्वेलर्स में पेश आई सनसनीखेज़ चोरी की वारदात में चोरों की जानिब से जुमला 5.97 करोड़ मालियती सोने के जे़वरात की चोरी किए जाने का इन्किशाफ़ हुआ है। सेंधमारी के ज़रिये शहर के पाश इलाक़े और पंजागुट्टा पुलिस स्टेशन के रूबरू तनिष्क ज्

तनिष्क ज्वेलर्स में पेश आई सनसनीखेज़ चोरी की वारदात में चोरों की जानिब से जुमला 5.97 करोड़ मालियती सोने के जे़वरात की चोरी किए जाने का इन्किशाफ़ हुआ है। सेंधमारी के ज़रिये शहर के पाश इलाक़े और पंजागुट्टा पुलिस स्टेशन के रूबरू तनिष्क ज्वेलर्स में हुई इस ने हैदराबाद सिटी पुलिस को हैरतज़दा कर दिया।

ज़राए ने बताया कि तनिष्क ज्वेलर्स के जनरल मेनेजर मनी कुन्दन ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि नक़बज़नी(सेंधमारी) के ज़रिये हुई चोरी की वारदात में 5.97करोड़ के प्लेन गोल्ड जेवरात, क़ीमती नगीने और दीगर तिलाई जे़वरात का उठा हे गये हैं।

इस सनसनीखेज़ चोरी की वारदात की तहक़ीक़ात सेंट्रल क्राईम स्टेशन (सी सी एस) कररही है और उन्हें इबतिदाई तहक़ीक़ात में ये मालूम हुआ है कि तनिष्क ज्वेलर्स शोरूम में चोरी करने वाले चोरों का ताल्लुक़ बैन रियासती लुटेरों की टोली से है और इस सिलसिले में मुंबई, उत्तरप्रदेश की पुलिस को चौकस कर दिया गया है।

ज़राए ने बताया कि तहक़ीक़ाती ओहदेदार चोरी के तरीके पर इस लिए हैरतज़दा हैं, चूँकि चोर शोरूम के तीन पिल्लर्स के दरमियान दीवार में नक़बज़नी करते हुए अंदर दाख़िल हुए और दाख़िले के फ़ौरी बाद बिजली का स्विच बोर्ड बंद कर दिया जिस के नतीजे में शोरूम की बर्क़ी सरबराही मुनक़ते होगई थी। पुलिस को ये भी शुबा है कि चोरी से क़ब्ल शोरूम का तफ़सीली जायज़ा लिया गया है। जबकि शोरूम के सी सी टी वी में रिकार्ड में ये पता लगा है कि चोरी में मुलव्वस एक चोर एक पैर से माज़ूर है। इस केस की तहक़ीक़ात सिटी पुलिस के आला ओहदेदारों की निगरानी में की जा रही है और सी सी एस पुलिस तहक़ीक़ात में शिद्दत पैदा करते हुए शोरूम के साबिक़ स्येक्यूरिटी गार्ड-ओ-मुलाज़मीन के इलावा हाल ही में दाग़ दोज़ी का काम करने वाले मज़दूरों की तफ़सीलात हासिल कररही है।

वाज़िह रहे कि पंजागुट्टा में अलुकास ज्वेलरी शोरूम में साल 2006 में इसी किस्म की वारदात पेश आई थी जिसमें यहां की पुलिस ने मुंबई के मशहूर-ओ-ख़तरनाक मुजरिम विनोद रामबोली सिंह को गिरफ़्तार किया था और उस के क़ब्ज़े से चोरी का माल बरामद करते हुए उसे हैदराबाद मुंतक़िल किया था। सी सी एस पुलिस को शोरूम के सी सी टी वी, वीडियो रिकार्डिंग के इलावा अभी तक कोई सुराग़ हाथ नहीं लगा।

TOPPOPULARRECENT