Saturday , July 22 2017
Home / India / तमिलनाडु के कारोबारियों का दावा, 1 मार्च से नहीं बिकेगी पेप्सी और कोक

तमिलनाडु के कारोबारियों का दावा, 1 मार्च से नहीं बिकेगी पेप्सी और कोक

चेन्नई। जल्लिकट्टू को लेकर चल रहे प्रदर्शन के बीच तमिलनाडु के कारोबारियों ने एक बड़ा फैसला लिया है। कारोबारियों ने तय किया है कि वे एक मार्च से विदेशी कंपनियों की सॉफ्ट ड्रिंक नहीं बेचेंगे। इसके बजाय वे भारतीय ब्रांड को बढ़ावा देंगे। ‘द हिंदू’ की एक रिपोर्ट में इसका दावा किया गया है। जल्लिकट्टू के समर्थन में सड़क पर उतरे लोगों ने स्थानीय संस्कृति को बढ़ावा देने की मांग करते हुए न सिर्फ PETA (पीपल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स) के का विरोध किया बल्कि अमेरिकी ब्रांड्स पेप्सी और कोक पर भी भड़ास निकाली। PETA का मुख्यालय अमेरिका में है।

तमिलनाडु में ट्रेडर्स यूनियन के अध्यक्ष ए.एम. विक्रमराजा ने कहा, ‘सॉफ्ट ड्रिंक्स शरीर को फायदा पहुंचाने के बजाय नुकसान ज्यादा करती हैं। हाल ही में एक ब्रांड ने यह स्वीकार भी किया है कि बच्चों के लिए यह सही नहीं है और इसमें कुछ केमिकल होने की भी बात सामने आई थी।’ उन्होंने कहा कि पेप्सी और कोका-कोला अपने प्लांट के लिए तिरुनेलवेली से पानी लेती हैं इससे किसामों को खेती के लिए पर्याप्त पानी नहीं मिल पाता। करीब 6000 सदस्य संगठनों और 15.87 लाख सदस्यों वाले संगठन पेरामैप्पू ने फैसला लिया है कि फरवरी महीने में ग्राहकों और कारोबारियों को विदेशी ड्रिंक्स के नुकसान से अवगत कराया जाएगा। साथ ही होटलों और रेस्टोरेंट मालिकों से भी इन्हें न बेचने की अपील की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT