Saturday , October 21 2017
Home / India / तमिल मुस्लमान, मुशावरत के बगै़र दस्तूरी तरमीम के मुख़ालिफ़

तमिल मुस्लमान, मुशावरत के बगै़र दस्तूरी तरमीम के मुख़ालिफ़

कोलंबो, १८ जनवरी (एजेंसीज़) श्रीलंका में हिंदूस्तान के रोल के सवाल पर जज़ीरा मलकमीं तमिलों के तीन बड़े नस्ल ग्रुपों के नज़रियात मुख़्तलिफ़ हैं और ये ग्रुप्स वज़ीर-ए-ख़ारजा एस एम कृष्णा के दौरा कोलंबो से मुख़्तलिफ़ नताइज की तवक़्क़ुआत व

कोलंबो, १८ जनवरी (एजेंसीज़) श्रीलंका में हिंदूस्तान के रोल के सवाल पर जज़ीरा मलकमीं तमिलों के तीन बड़े नस्ल ग्रुपों के नज़रियात मुख़्तलिफ़ हैं और ये ग्रुप्स वज़ीर-ए-ख़ारजा एस एम कृष्णा के दौरा कोलंबो से मुख़्तलिफ़ नताइज की तवक़्क़ुआत वाबस्ता कर रहे हैं। तमिलों के तीन बड़े नसली ग्रुपों में सऩ्हाई, टामल और मुस्लमान शामिल हैं।

इन तीनों को हिंदूस्तान से एक दूसरे से ना सिर्फ मुख़्तलिफ़ बल्कि मुतज़ाद तवक़्क़ुआत वाबस्ता किए हुए हैं। श्रीलंका के सब से बड़े मुस्लिम तमिलों ग्रुप ने जिस की नुमाइंदगी श्रीलंका सल्लम कांग्रेस (एस एल एम एस) करती है इस नज़रिया की हामिल है कि इन से मुशावरत और इजाज़त के बगै़र दस्तूर में कोई तरमीम ना की जाये।

मुस्लमानों ने शुमाल और मशरिक़ के दुबारा इंज़िमाम की मुख़ालिफ़त की है क्योंकि इस सूरत में इन की अक्सरीयत का तनासुब बुरी तरह घट जाएगा। श्रीलंका के टामल मुस्लमानों को शिकायत है कि इन के मुफ़ादात को नज़र अंदाज़ करते हुए हिंद। श्रीलंका समझौता किया गया था।

लेकिन ये मुस्लमान अपुन साथी दीगर टामलों के इस नज़रिया से इत्तिफ़ाक़ करते हैं कि सिन्हा ली अवाम और हुकूमत इक़तिदार का इस्तेमाल करते हुए तमिल आराज़ीयात पर क़ब्ज़े कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT