Saturday , October 21 2017
Home / तलंगाना एक हस्सास मसला , तमाम फ़रीक़ों को सब्र-ओ-तहम्मुल का मश्वरा

तलंगाना एक हस्सास मसला , तमाम फ़रीक़ों को सब्र-ओ-तहम्मुल का मश्वरा

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की आंधरा और राइलसीमा कांग्रेस क़ाइदीन से बातचीत

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की आंधरा और राइलसीमा कांग्रेस क़ाइदीन से बातचीत
हैदराबाद। 19 जुलाई (सियासत न्यूज़) वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह ने तलंगाना को एक संजीदा मसला क़रार देते हुए सब्र-ओ-तहम्मुल से काम लेने का कांग्रेस क़ाइदीन को मश्वरा दिया और सीमा। आंधरा कांग्रेस क़ाइदीन के जज़बात को कांग्रेस कोर कमेटी को वाक़िफ़ कराने का तीक़न दिया। उन्हों ने आज सीमा। आंधरा की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस क़ाइदीन के वफ़द से दिल्ली में मुलाक़ात करते हुए अपने इन एहसासात से वाक़िफ़ किराया। मुत्तहदा आंधरा प्रदेश की ताईद में दिल्ली पहूंचने वाला सीमा। आंधरा के कांग्रेस क़ाइदीन का एक वफ़द सुबह में वज़ीर-ए-आज़म डाक्टर मनमोहन सिंह से मुलाक़ात करने के बाद मर्कज़ी वज़ीर-ए-दिफ़ा मिस्टर ए के अंतोनी, मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला मिस्टर पी चिदम़्बरम से भी मुलाक़ात की। ज़राए ने बताया कि तीनों क़ाइदीन ने सीमा । आंधरा के कांग्रेस क़ाइदीन को मश्वरा दिया कि वो सब्र-ओ-तहम्मुल का मुज़ाहरा करें। पार्टी हाईकमान मसला की मुस्तक़िल यकसूई की तरफ़ क़दम बढ़ा रही है। ऐसे में हाईकमान को तीनों इलाक़ों की नुमाइंदगी करने वाले क़ाइदीन बिलख़सूस कांग्रेस क़ाइदीन के तआवुन की ज़रूरत है। वो तलंगाना के मसला से बख़ूबी वाक़िफ़ है। मुज़ाकरात से कोई फ़ैसला होसकता है। कांग्रेस क़ाइदीन तआवुन करें। आंधरा प्रदेश में पार्टी को मुस्तहकम करने की कोशिश करें। मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला पी चिदम़्बरम ने भी सीमा । आंधरा के कांग्रेस क़ाइदीन को यही ताकीद की। आंधरा प्रदेश की हाईकमान के पास बहुत ज़्यादा एहमीयत है और वो तलंगाना के मसला पर दोनों इलाक़ों के अवाम केलिए काबिल-ए-क़बूल हल ढूंढ रही है। क़ाइदीन के तआवुन के बगै़र मसला हल होना मुम्किन नहीं है। उन्हों ने 100 से ज़्यादा अरकान असैंबली के अस्तीफ़ों के बाद सूरत-ए-हाल से भी वाक़फ़ीयत हासिल की। ज़राए ने बताया कि कांग्रेस के क़ाइदीन, टी आर इसके बिछाए हुए जाल में फंस गए हैं। इजलास के बाद रियास्ती वज़ीर प्राइमरी एजूकेशन मिस्टर शैलजा नाथ ने बताया कि रियासत को तक़सीम करने की सूरत में होने वाले नुक़्सानात और मुत्तहिद रखने की सूरत में होने वाले क़ाइदीन से वज़ीर-ए-आज़म , मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला और मर्कज़ी वज़ीर-ए-दिफ़ा को बताते हुए तफ़सीली रिपोर्टस पेश करचुके हैं। रियासत को मुत्तहिद रखने केलिए सिरी कृष्णा कमेटी की छटवें तजवीज़ पर अमल करने का मुतालिबा करचुके हैं। वज़ीर-ए-आज़म विशाल आंधरा की तहरीक से बहुत ज़्यादा मुतास्सिर हुए हैं। रियास्ती वज़ीर प्राइमरी एजूकेशन ने बताया कि कल रात ग़ुलाम नबी आज़ाद से भी मुलाक़ात इतमीनान बख़श रही है। उन्हों ने तीनों इलाक़ों के 5 ता 10 क़ाइदीन पर मुश्तमिल वफ़द से बातचीत करने का तीक़न दिया है। उन्हों ने कहा कि इलाक़ा आंधरा के 90 फ़ीसद, राइलसीमा के 90 फ़ीसद और तलंगाना के 45 फ़ीसद अवाम मुत्तहदा आंधरा प्रदेश के हक़ में है। मुख़्तलिफ़ सर्वे से इस का इन्किशाफ़ हुआ है। फ़ैसला करने में मज़ीद ताख़ीर करने से रियासत की तरक़्क़ी मुतास्सिर होसकती है। साबिक़ रियास्ती वज़ीर मिस्टर जी वेंकट रेड्डी ने कहा कि रियासत को मुत्तहिद रखते हुए हम ने तलंगाना क़ाइदीन की शिकायतों को दूर करने की हाईकमान से नुमाइंदगी की है। मसला की यकसूई केलिए सिरी कृष्णा कमेटी की छटवें तजवीज़ पर अमल करना वाहिद हल है। उन्हों ने कहा कि अस्तीफ़े अभी मंज़ूर नहीं हुए और ना ही आंधरा प्रदेश में नज़म-ओ-नसक़ मफ़लूज हुआ है। चीफ़ मिनिस्टर को इख़्तयारात है। वो किसी भी महिकमा की फाईल मांग कर दस्तख़त करसकते हैं।

TOPPOPULARRECENT