Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / तशकील तेलंगाना का अमल रुक जाने का यक़ीन : अशोक बाबू

तशकील तेलंगाना का अमल रुक जाने का यक़ीन : अशोक बाबू

ए पी एन जी औज़ ने आज इद्दिआ किया कि सीमा आंध्र के सरकारी मुलाज़िमीन की हड़ताल जारी रहेगी। ए पी एन जी औज़ के सदर अशोक बाबू ने कहा कि बर्क़ी शोबा के मुलाज़िमीन असातिज़ा सेक्रेटरीएट मुलाज़िमीन और आर टी सी मुलाज़िमीन ने सिर्फ़ आरिज़ी तौर प

ए पी एन जी औज़ ने आज इद्दिआ किया कि सीमा आंध्र के सरकारी मुलाज़िमीन की हड़ताल जारी रहेगी। ए पी एन जी औज़ के सदर अशोक बाबू ने कहा कि बर्क़ी शोबा के मुलाज़िमीन असातिज़ा सेक्रेटरीएट मुलाज़िमीन और आर टी सी मुलाज़िमीन ने सिर्फ़ आरिज़ी तौर पर अपनी हड़ताल ख़त्म की है जिस का मतलब ये नहीं हैके ए पी एन जी औज़ ने हड़ताल ख़त्म करदी और वो रियासत को मुत्तहिद रखने अपने मुतालिब से दस्तबरदार होगई है।

उन्होंने कहा कि इन तमाम महिकमों के मुलाज़िमीन दुबारा हड़ताल शुरू करदेंगे अगर तशकील तेलंगाना का बिल पार्ल्यमंट में पेश किया जाता है।

अशोक बाबू ने वाज़िह किया कि तशकील तेलंगाना पर का बीनी नोट सिर्फ़ एन जी औज़ के एहतिजाज की वजह से 60 की ताख़ीर का शिकार हुआ है।

उन्होंने कहा कि एन जी औज़ के बरवक़्त एहतेजाज और अवाम की ब्रहमी ने तेलंगाना की तशकील के अमल को ताख़ीर का शिकार किया है । उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद हैके अब तेलंगाना तशकील देने का अमल मज़ीद पेशरफ़्त नहीं करेगा।

उन्होंने कहा कि वो क़ौमी सतह के बिशमोल तमाम सयासी जमातों के क़ाइदीन से मुलाक़ातें करेंगे ताकि उन्हें तक़सीम रियासत के मुतालिबा से वाक़िफ़ करवाया जा सके।

उन्होंने कहा कि अगर चन्द्र शेखर रव‌ इजाज़त दें तो वो सदर टी आर एस से मुलाक़ात करने तैयार हैं ताकि उन्हें रियासत को मुत्तहिद रखने की ज़रूरत से वाक़िफ़ करवा सकीं।

उन्होंने कहा कि तेलंगाना का मुतालिबा सयासी है। उन्होंने कहा कि सीमा आंध्र इलाक़ों में कांग्रेस फ़िलवक़्त अवाम के दरमियान जाने के मौक़िफ़ में नहीं है कि अवाम का एहसास हैके कांग्रेस क़ाइदीन को तशकील तेलंगाना का पहले से इलम था।

अशोक बाबू ने सदर तेलुगु देशम चंद्राबाबू नायडू से मुतालिबा किया कि वो ये वज़ाहत करें कि आया मुत्तहदा रियासत के हामी रहेंगे यह तेलंगाना की ताईद करेंगे।

उन्होंने सवाल किया कि 9 दिसंबर को तेलंगाना की तशकील अमल में लाने के बयान के बाद ओहदों से स्तिफ़ा पेश करने वाले अब क्यों ख़ामोश हैं ।

उन्होंने दिल्ली के क़ाइदीन को तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि दो ही इलाक़ों के अवाम को धोका देने का तरीका कार इख़तियार किए हुए हैं ।

TOPPOPULARRECENT