Tuesday , October 17 2017
Home / Featured News / तहफ़्फुज़ात मुस्लमानों का हक़, हुकूमत का एहसान नहीं: केसीआर

तहफ़्फुज़ात मुस्लमानों का हक़, हुकूमत का एहसान नहीं: केसीआर

हैदराबाद 29 जनवरी: चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने वाज़िह किया कि उनकी हुकूमत मुसलमानों को तालीम और रोज़गार में 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के लिए जामा मन्सूबे के साथ आगे बढ़ रही है। सुधीर कमीशन आफ़ इन्क्वारी की रिपोर्ट के बाद काबीना में तहफ़्फुज़ात के हक़ में फ़ैसला किया जाएगा और ज़रूरत पड़ने पर असेंबली कि ख़ुसूसी मीटिंग तलब करते हुए क़रारदाद मंज़ूर की जाएगी।

तेलंगाना भवन में सियासत से ख़ुसूसी बातचीत के दौरान चीफ़ मिनिस्टर ने 12फ़ीसद तहफ़्फुज़ात से मुताल्लिक़ अपने वादे पर अमल आवरी में संजीदगी का इज़हार किया और कहा कि मुसलमानों को इस बारे में अंदेशों का शिकार होने की ज़रूरत नहीं। तेलंगाना हुकूमत अच्छी तरह जानती है कि किस तरह मर्कज़ से तहफ़्फुज़ात के हक़ में फ़ैसला हासिल किया जाये। उन्होंने कहा कि तहफ़्फुज़ात के लिए बीसी कमीशन की तशकील ज़रूरी नहीं है और उन्होंने इस सिलसिले में माहिरीन क़ानून से बात की है।

मुसलमानों की तालीमी, मआशी और समाजी पसमांदगी का जायज़ा लेने के लिए क़ायम करदा सुधीर कमीशन आफ़ इन्क्वारी की रिपोर्ट काफ़ी होगी। उन्होंने कहा कि कमीशन ने मुख़्तलिफ़ अज़ला का दौरा करते हुए अपना काम तक़रीबन मुकम्मिल कर लिया है और वो मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात से मुसलमानों के बारे में आदाद-ओ-शुमार इकट्ठा करने में मसरूफ़ है। ठोस शवाहिद की बुनियाद पर कमीशन हुकूमत को तहफ़्फुज़ात के हक़ में सिफ़ारिशात पेश करेगा।

केसीआर ने कहा कि तेलंगाना में मुसलमानों की आबादी 12 ता14 फ़ीसद का अंदाज़ा किया गया है और आबादी के एतेबार से तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी में कोई क़ानूनी या दस्तूरी रुकावट नहीं है। उन्होंने कहा कि सुप्रीमकोर्ट ने 50फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की कोई हद मुक़र्रर नहीं की है बल्कि 50%से ज़ाइद तहफ़्फुज़ात की सूरत में ठोस बुनियादों पर दलायल पेश करने की गुंजाइश रखी है।

इस तरह सुप्रीमकोर्ट की आड़ में 50% से ज़ाइद तहफ़्फुज़ात की मुख़ालिफ़त करना मालूमात की कमी का नतीजा है। तमिलनाडु और कर्नाटक की तर्ज़ पर तेलंगाना हुकूमत भी मुसलमानों को तहफ़्फुज़ात फ़राहम करेगी।

उन्होंने बताया कि क़ानूनी माहिरीन से बातचीत के बाद हुकूमत ने हिक्मत-ए-अमली तैयार करली है जिसके मुताबिक़ कमीशन की रिपोर्ट को काबीना में मंज़ूरी के बाद मर्कज़ को रवाना किया जाएगा। ज़रूरत पड़ने पर असेंबली कि ख़ुसूसी मीटिंग तलब करते हुए 12% तहफ़्फुज़ात के हक़ में क़रारदाद मंज़ूर की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT