Monday , October 23 2017
Home / District News / तानडूर में विद्या वालीनटर्स कई मसाइल के शिकार

तानडूर में विद्या वालीनटर्स कई मसाइल के शिकार

तानडोर, १६ दिसम्बर: ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) असैंबली तानडूर के शहरी दो यही इलाक़ों के महतलफ़ मदारिस में तदरीसी ख़िदमात पर मामूर सैंकड़ों विद्या वालीनटर्स इन दिनों कई मसाइल का शिकार हैं। तानडोर के मुदर्रिसा

तानडोर, १६ दिसम्बर: ( सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़ ) असैंबली तानडूर के
शहरी दो यही इलाक़ों के महतलफ़ मदारिस में तदरीसी ख़िदमात पर मामूर सैंकड़ों
विद्या वालीनटर्स इन दिनों कई मसाइल का शिकार हैं। तानडोर के मुदर्रिसा
फ़ो का नया इंदिरा नगर में विद्या वालनटरस की हैसियत से ख़िदमात पर मामूर
मुहम्मद इबराहीम ने नुमाइंदा सियासत को बताया कि हलक़ा असैंबली तानडुर के
25 से ज़ाइद और मदारिस में 75 विद्या वालीनटरस मुतय्यन किए गए हैं ।ताहम
विद्या वालीनटर्स को साबिक़ में 3500 रुपय उजरत मुक़र्रर की गई थी । जिसे
बढ़ाकर 4500 रुपय माहाना उजरत देने का ऐलान किया गया था । लेकिन तानडोर
में विद्या वालीनटर्स को 5 माह से उजरत से महरूम करदिया गया है । हलक़ा
असैंबली तानडोर के महतलफ़ मंडलस में वाक़्य ऐम ई ओ दफ़ातिर पर विद्या
वालीनटर्स का एहतिजाज मुसलसल जारी है ।

दीगर कई विद्या वालीनटर्स नेबताया कि एहतिजाज के बावजूद भी महिकमा तालीम के हुक्काम विद्या वालीनटरस
के मसाइल की यकसूई में नाकाम रहे हैं । 5 माह के बाद एक माह की तनख़्वाह
3500 रुपय फ़राहम की गई है ।इस तरह 4500 रुपय के ऐलान का मज़ाक़ उड़ाया गया
है । एक तो नाकाफ़ी उजरत और 5 , 6 माह की ताख़ीर से विद्या वालीनटर्स माली
मुश्किलात का शिकार हो रहे हैं । जिस के नतीजा में वो नफ़सियाती तौर पर
तदरीसी ख़िदमात में वक़्त महसूस कर रहे हैं जिस का ख़मयाज़ा तलबा को भुगतना
पड़ेगा ।

विद्या वालीनटर्स का मुतालिबा है कि तलबा-ए-के शानदार मुस्तक़बिल
और असातिज़ा की एहमीयत-ओ-इफ़ादीयत को नज़र में रखते हुए मुताल्लिक़ा हुक्काम
फ़िलफ़ौर विद्या वालीनटरस की इज़ाफ़ा शूदा उजरत 4500 रुपय जारी करें और हर
माह पानबदी से उजरत की इजराई को यक़ीनी बनाये । यहां ये ज़िक्र बेजा ना
होगा कि हलक़ा असैंबली तानडोर के तक़रीबन तमाम ही उर्दू मदारिस मैं
असातिज़ा की मख़लवा जायदादें पाई जाती है । असातिज़ा की कमी को किसी हद तक
विद्या वालीनटर्स ही दूर कर रहे हैं । ऐसे में विद्या वालीनटर्स के मसाइल
को सर्द ख़ाना में डालना तलबा-ए-के मुस्तक़बिल को तबाह-ओ-बर्बाद करना होगा
। मुताल्लिक़ा हुक्काम को चाहीए कि फ़िलफ़ौर तवज्जा देते हुए विद्या वालीनटर्स की यकसूई करें ।

TOPPOPULARRECENT