Monday , October 23 2017
Home / District News / तालीम को आम करने हुकूमत के इक़दामात जारी

तालीम को आम करने हुकूमत के इक़दामात जारी

भैनसा 08 डसमबर (सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रियास्ती हुकूमत ने तालीमी माहौल को फ़रोग़ देने के लिए सरवा सखशा अभियान का आग़ाज़ किया है जिस के तहत रियासत में सद फ़ीसद ख़वांदगी को मुकम्मल करने के लिए कई इक़दामात किए जा रहे हैं। इस ज़िमन में भै

भैनसा 08 डसमबर (सियासत डिस्ट्रिक्ट न्यूज़) रियास्ती हुकूमत ने तालीमी माहौल को फ़रोग़ देने के लिए सरवा सखशा अभियान का आग़ाज़ किया है जिस के तहत रियासत में सद फ़ीसद ख़वांदगी को मुकम्मल करने के लिए कई इक़दामात किए जा रहे हैं। इस ज़िमन में भैंसा में मुस्लिम तालिबात को तालीमी माहौल को फ़रोग़ देने के लिए और उन्हें तालीम के ज़ेवर से आरास्ता करने के लिए कस्तूरबा गांधी विद्यालय में उर्दू मीडियम की मंज़ूरी आचुकी ही। इन ख़्यालात का इज़हार मंडल एजूकेशन ऑफीसर भैंसा मिस्टर दयानंद ने आज मुस्लिम अवाम में शऊर बेदारी के लिए एक मोबाईल गाड़ी का इफ़्तिताह करने के दौरान किया। ज़िला आदिल आबाद में उर्दू मीडियम तालिबात के लिए दो मुक़ामात पर कस्तूरबा गांधी हॉस्पिटलों की मंज़ूरी अमल में आचुकी है

जिन में मंदा मरी के इलावा भैंसा भी शामिल ही। इस हॉस्पिटल में 10 साल की उम्र से लेकर 14 साल की ऐसी लड़कीयां जिन्हों ने अपनी तालीम तर्क करदी है जो किसी वजह से तालीम हासिल नहीं कर पा रही हैं उन की निशानदेही करते हुए उन्हें स्कूल से रुजू करना ही। इस हॉस्पिटल में लड़कीयों को मकान जैसी सहूलतें फ़राहम होंगी। दाख़िले के फ़ौरी बाद उन्हें तीनता चार जोड़े कपड़े फ़राहम किए जाऐंगे और तमाम सहूलतें चप्पल, बिस्तर और बनाओ सिंगार के लिए हर माह पच्चास रुपय देने के इलावा तमाम किताबें नोट बक्स क़लम से लेकर पुन तक सरबराह किए जाएंगी। भैंसा डीवीझ़न में मुस्लिम अवाम में लड़कीयों को इस हॉस्पिटल में दाख़िल करवाने के लिए शऊर बेदारी मुहिम का ऐम ई ओ ऑफ़िस भैंसा से आग़ाज़ किया गया। इस प्रोग्राम में एजाज़ अहमद ख़ान साबिक़ नायब सदर नशीन बलदिया भैंसा, अबदालबशीर अतहर ऐम आर पी भैंसा, ग़ुलाम दस्तगीर ख़ान, सिराज उद्दीन, अतहर उद्दीन, शफ़ी अहमद क़ुरैशी ऐम आर पी मदहोल के

इलावा दीगर मौजूद थी। दौरान ख़िताब मंडल एजूकेशन ऑफीसर दयानंद ने कहाकि ये मोबाईल टीम ओलयाए तालिबात में शऊर बेदार करने के लिए भैंसा डीवीझ़न का अहाता करेगी और ज़्यादा से मुस्लिम तालीम तर्क करनेवाली लड़कीयों को मज़ीद तालीम हासिल करने के लिए आमादा करेगी। उन्हों ने भैंसा डीवीझ़न के तमाम मुस्लिम अवाम-ओ-मुस्लिम क़ाइदीन से अपील की कि वो अपने अपने इलाक़ा की ऐसी लड़कीयां जो अपनी तालीम किसी मजबूरी के तहत छोड़ चुकी हैं उन्हें हॉस्पिटल में दाख़िल करवाते हुए मुस्लिम लड़कीयों में नाख़्वान्दगी को दूर करने के लिए मुकम्मल तआवुन करें.

TOPPOPULARRECENT