Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / तिब्बी निगहदाशत के लिए मुशतर्का अक़ल्ल तरीन क़ीमतें ज़रूरी: गवर्नर

तिब्बी निगहदाशत के लिए मुशतर्का अक़ल्ल तरीन क़ीमतें ज़रूरी: गवर्नर

हैदराबाद 24 जुलाई:गवर्नर ई एस एल नरसिम्हन ने तिब्बी निगहदाशत के लिए मुशतर्का अक़ल्ल तरीन क़ीमतें मुतय्यन करने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए मेडिकल शोबा से वाबस्ता अफ़राद से कहा कि वो एसी सस्ती अदवियात तैयार करें जो आम आदमी खरीदने के काबिल हो और एक ग़रीब शख़्स अदवियात ख़रीद सके।

इस बात पर तवज्जा देने की ज़रूरत हैके आया आम आदमी के हामिल अदवियात की तैयारी के लिए किया इक़दामात किए जाएं। गवर्नर ने कहा कि इन दिनों आम आदमी दवाख़ानों और डाक्टरों से रुजू होने से ख़ासिर् है। अवाम अपना बाक़ायदा तिब्बी मुआइना करवाने के लिए डाक्टरों से रुजू होने से गुरेज़ कररहे हैं, क्युंकि डॉक्टर्स उनके लिए गै़रज़रूरी टेस्टस और तशख़ीस करवाते हैं।

इंडो ग्लोबल चोटी कांफ्रेंस 2015से ख़िताब करते हुए गवर्नर नरसिम्हन ने कहा कि सेहत की निगहदाशत एक अहम तरीन ज़रूरत है इस के लिए कई इक़दामात करने होंगे, इन में ग़िज़ा का इस्तेमाल, तर्ज़-ए-ज़िदंगी और माहौलियात के अलावा समाजी मसाइल पर भी ध्यान देना होगा।

इन दिनों सेहत की सलामती को यक़ीनी बनाना अहम मौज़ू बन गया है। माहौलियात की ख़राबी ने आम इंसानी ज़िंदगी को मुतास्सिर करना शुरू कर दिया है। ये अंदेशा बढ़ता जा रहा हैके हिंदुस्तान में अब ज़्यादा दिनों तक एक सेहत मंद मुआशरा नहीं रह सकता। गवर्नर ने कहा कि इन दिनों फ़ैमिली डाक्टर का तसव्वुर भी ख़त्म होचुका है।

उन्होंने ये भी कहा कि डाक्टरों के लिए ये लाज़िमी हैके वो शहरों का रुख़ करने से पहले देही इलाक़ों में भी ख़िदमात अंजाम दें। उन्होंने मेडिकल तालीमी फ़ीस में भी यकसानियत लाने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT