Monday , August 21 2017
Home / Islami Duniya / तुर्की और रूस में मुसालहत कराना हमारा फ़र्ज़ है – ईरान

तुर्की और रूस में मुसालहत कराना हमारा फ़र्ज़ है – ईरान

Protesters carry an image of Syrian President Bashar Hafez al-Assad during a demonstration against US military action in Syria, Monday, Sept. 9, 2013, in front of the White House in Washington. On Tuesday, President Barack Obama will address the nation regarding Syria. (AP Photo/Carolyn Kaster)

ईरान ने अपने इत्तिहादी रूस और तुर्की के दरमयान मुसालहत के लिए अज़खु़द ही किरदार अदा करना शुरू कर दिया है और कहा है कि इन दोनों ममालिक के दरमयान मुफ़ाहमत कराना हमारी ज़िम्मेदारी है लेकिन अभी इस बयान की सदाए बाज़ गश्त सुनी ही जा रही थी कि ईरानी मीडिया ने भी रूस की तरह तुर्क सदर रजब तैयब उर्दूआन पर ये इल्ज़ाम आयद कर दिया है कि वो दाइश से शाम के तेल की ख़रीदारी में मुलव्विस हैं।

ईरान की सरकारी ख़बररसां एजेंसी इर्ना के मुताबिक़ सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह अली खामिनाई के मुशीर बराए उमूर ख़ारिजा अली अकबर विलाएती ने कहा कि, ईरान की ये ज़िम्मेदारी है कि वो तुर्की और रूस के दरमयान कशीदगी को कम करे क्योंकि खित्ते की पहले से कशीदा सूरते हाल के पेशे नज़र एक और कशीदगी को हवा देना (किसी के लिए) बेहतर नहीं है।

रूस और तुर्की के दरमयान 24 नवंबर को रूसी फ़िज़ाईया के एक लड़ाका जेट को शाम के साथ वाक़े सरहदी इलाक़े में मार गिराए जाने के बाद से सख़्त कशीदगी पैदा हो चुकी है।

TOPPOPULARRECENT