Friday , October 20 2017
Home / World / तुर्की में तीन महीने के लिए आपात स्थिति लागू

तुर्की में तीन महीने के लिए आपात स्थिति लागू

अंकारा: पिछले सप्ताह तुर्की सरकार के खिलाफ विद्रोह की नाकाम कोशिश के बाद राष्ट्रपति रजब तैयब अरद‌गान ने देश में तीन महीने के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी है। राष्ट्रपति अरदोगान ने इस बात की घोषणा अंकारा में एक बैठक के दौरान किया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को विद्रोह के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ तेजी से कार्रवाई करने में आसानी होगी। आपात स्थिति के कार्यान्वयन के बाद राष्ट्रपति अरदोगान को संसद को दरकिनार करने और कुछ नागरिक अधिकारों को निलंबित करने का अधिकार मिल जाएगा। हालांकि उन्होंने वादा किया है कि वे छोड़ नागरिकों के मौलिक अधिकारों की रक्षा करेंगे। राष्ट्रपति भवन में भाषण देते हुए उन्होंने कहा कि सशस्त्र बलों सभी वायरस को साफ कर दिए जाएंगे।

‘उन्होंने कहा कि आपातकाल लागू करने का उद्देश्य इस खतरे को जल्दी खत्म करना है।’ उन्होंने कहा कि इससे लोकतंत्र कानून की पदोन्नति और स्वतंत्रता के मूल्यों मजबूत होंगी। ‘राष्ट्रपति ने कहा कि जिन लोगों की जानें असफल विद्रोह में बर्बाद हुई, देश उनके बलिदान को कभी भूल नहीं होगा। तुर्क राष्ट्रपति ने कहा कि अन्य देशों के लिए तुर्की के मामलों से परे रहना चाहिए। ‘इस देश को अपने भाग्य का फैसला खुद करने का अधिकार है।

उधर जर्मन विदेश मंत्री फ्रैंक वाल्टर शटाईन मेयर ने तुर्की में आपातकाल लागू करने की घोषणा पर प्रतिक्रिया में कहा है कि आपातकाल केवल अंतिम उपाय के रूप में लगानी चाहिए थी और उसे सिर्फ इतनी अवधि तक लागू रहना चाहिए जब तक यह आवश्यक है। उन्होंने तुर्की सरकार से आग्रह किया कि उसे अपराधियों को निशाना बनाना चाहिए, न कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों।

99 जरनलस पर आरोप लगाया वहीं छोड़ अधिकारियों ने पिछले सप्ताह सरकार के खिलाफ विद्रोह की नाकाम कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किए गए 99 जरनलस के खिलाफ नियमित आरोप लगाया है। तुर्क अधिकारियों के अनुसार देश भर से शिक्षाविदों और बुद्धिजीवियों के विदेश जाने पर भी अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

जरनलस पर आरोप तय राष्ट्रपति रजब तैयब अरदोगान के उन सैन्य कमांडरों के साथ बैठक के बाद किया गया था जो विद्रोह के दौरान उनके वफादार रहे थे। उम्मीद है कि वह जल्द ही महत्वपूर्ण घोषणाएं करें। तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अरदोगान बुधवार को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में देश में स्थिरता लाने की योजना भी प्रस्तुत कर रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT