Saturday , June 24 2017
Home / Uttar Pradesh / तेजबान सिंह का टिकट काटने के खिलाफ भाजपा के 392 बूथ अध्यक्षों ने दिया इस्तीफा

तेजबान सिंह का टिकट काटने के खिलाफ भाजपा के 392 बूथ अध्यक्षों ने दिया इस्तीफा

प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ: अमेठी के गौरीगंज विधानसभा क्षेत्र से चार बार विधायक रह चुके तेजबान सिंह का भाजपा ने टिकट काट दिया है। उनके जगह पर पार्टी ने उमाशंकर पांडे को अपना उम्मीदवार बनाया है। इसके विरोध में तकरीबन ढाई सौ स्थानीय पदाधिकारियों ने भाजपा की उम्मीदवार उमाशंकर पांडे के साथ मिलकर काम करने से मना कर दिया है।

शनिवार को 392 बूथ अध्यक्षों ने अपना इस्तीफा पार्टी को सौंपा दिया। वहीं शुक्रवार को पार्टी कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का पुतला भी फूंका था। बता दें कि आरएसएस के प्रचारक रहे तेजबान सिंह गौरीगंज विधानसभा से 1980 से चुनाव लड़ते आ रहे हैं। उनकी टिकट पार्टी ने यह कहकर कहकर काटी है कि अब उनकी उम्र अधिक हो गई है। अमेठी में भाजपा के प्रवक्ता गोविंद सिंह चौहान ने कहा कि जनता के इस गुस्से का प्रभाव हमारे पड़ोस की विधानसभाओं में भी पड़ सकता है। वहीं भाजपा के बागी आशीष शुक्ला भाजपा की उम्मीदवार रानी गरिमा सिंह के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ने की योजना बना रहे हैं।

वहीं तेजबान सिंह ने कहना है कि वह टिकट नहीं मिलने से निराश हैं लेकिन वो एक विद्रोही के तौर पर चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने कहा, “मैं अपनी तरफ से किसी को परेशान नहीं करना चाहता। पार्टी में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, कलराज मिश्र से लेकर कल्याण सिंह तक सभी मुझे जानते हैं। लेकिन इन दिनों ओम माथुर, सुनील बंसल और केशव प्रसाद मौर्य जैसे लोग इंचार्ज हैं।”

गौरतलब है कि रानी गरिमा सिंह भाजपा के टिकट पर पहली बार चुनाव मैदान में हैं। वह कांग्रेस प्रचार कमिटी के अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद संजय सिंह की पहली पत्नी हैं। इसके अलावा रानी गरिमा सिंह की पहचान पूर्व प्रधानमंत्री वी.पी. सिंह की भतीजी और शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाली के तौर भी है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT