Wednesday , October 18 2017
Home / India / तेरे मासूम सवालों से परेशान हूँ मैं……………

तेरे मासूम सवालों से परेशान हूँ मैं……………

महात्मा गांधी को बाबा ए क़ौम का रुतबा दिए जाने के बारे में एक 10 साला लड़की की तरफ़ से क़ानून हक़ मालूमात के तहत किए गए सवाल ने हकूमत-ए-हिन्द के लिए एक परेशानकुन सूरत-ए-हाल पैदा कर दिया है । छठवें जमात की तालिबा 10 साला ऐश्वर्या ने इस साल फ़रवर

महात्मा गांधी को बाबा ए क़ौम का रुतबा दिए जाने के बारे में एक 10 साला लड़की की तरफ़ से क़ानून हक़ मालूमात के तहत किए गए सवाल ने हकूमत-ए-हिन्द के लिए एक परेशानकुन सूरत-ए-हाल पैदा कर दिया है । छठवें जमात की तालिबा 10 साला ऐश्वर्या ने इस साल फ़रवरी में वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर में सेंटर्ल पब्लिक इन्फ़ार्मेशन ऑफीसर के नाम आर टी आई दरख़ास्त रवाना करते हुए इस हुक्मनामा की नक़ल फ़राहम करने की ख़ाहिश की थी जिसके ज़रीया महात्मा गांधी को बाबा ए क़ौम क़रार देने का ऐलान किया गया था ।

मासूम ऐश्वर्या के इस परेशानकुन सवाल को वज़ीर-ए-आज़म के दफ़्तर ने वज़ारत उमोर दाख़िला के हवाला कर दिया था । लेकिन वज़ारत उमोर दाख़िला ने इस मकतूब को नैशनल आरकियोलाजिकल आफ़ इंडिया से रुजू करते हुए कहा था कि मुआमला इस के दायरा कार में शामिल नहीं है । नैशनल आरकियोलाजिकल आफ़ इंडिया ( एन आई ए) ने ऐश्वर्या को रवाना कर्दा अपने जवाब में कहा है कि मतलूबा मालूमात के बारे में कोई वाज़िह दस्तावेज़ का रिकार्ड दस्तयाब नहीं है । आरकियोलाजीज़ अस्सिटेंट डायरेक्टर चंद्रन ने जवाब में लिखा कि एन आई ए रिकार्ड में अवामी अम्सिला जात की तलाश के दौरान ऐसी कोई वाज़िह दस्तावेज़ दस्तयाब नहीं होती है जिसके बारे में आप ने मालूमात तलब की है ।

अस्सिटेंट डायरेक्टर ने कहा कि नैशनल आरकियोलाजिकल आफ़ इंडिया के पास महात्मा गांधी से मुताल्लिक़ अवामी रिकार्डस का भारी ज़ख़ीरा मौजूद है । मिस्टर रवी चंद्रन ने कहा कि चीफ़ पब्लिक इन्फ़ार्मेशन ऑफीसर मुरव्वजा रहनुमा या ना ख़ुतूत के मुताबिक़ सिर्फ मुशावरत के लिए रिकार्ड फ़राहम कर सकते हैं लेकिन किसी दरख़ास्त के लिए तहक़ीक़ करना उन के दायरा कार में शामिल नहीं होता ।

TOPPOPULARRECENT