Saturday , October 21 2017
Home / India / तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूं ..

तेरे हुस्न की क्या तारीफ़ करूं ..

लखनऊ .

लखनऊ . 6 फरवरी (पी टी आई) उत्तरप्रदेश के वज़ीर बराए खादी और ग्राम उदीवग राजा राम पांडे एक ख़ातून ब्यूरोक्रेट्स के हुस्न की तारीफ़ करने पर मुश्किलात में घर गए हैं। सुल्तानपुर की एक सरकारी तक़रीब में उन्होंने सीनीयर लेडी ब्यूरोक्रेट्स की ख़ूबसूरती की तारीफ़ की थी.

उसकी वजह से समाजवादी पार्टी लीडर को सबका सामना करना पड़ा है। पीर को कमला नहरू इंस्टीटियूट औफ़ टैक्नोलोजी सुल्तान पुर में बेरोज़गारी नौजवानों में चैक की तक़सीम के बाद पांडे ने अचानक अपनी तक़रीर का रुख़ बदलते हुए ज़िला मजिस्ट्रेट के धन्ना लक्ष्मी के हुस्न की तारीफ़ करना शुरू कर दिया जो उस वक़्त तक़रीब में मौजूद थीं।

पांडे ने कहा कि वो ख़ुशकिसमत हैं कि ज़िला की डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट भी लेडी थीं उन्होंने पिछ्ली बार की डी एम कामीनी चौहान का हवाला दिया । उन्होंने कहा कि मुझे लगता था कि उनसे ख़ूबसूरत ख़ातून डी एम के नहीं हो सकती, पर इस बार जब में प्रभारी मंत्री (ज़िला इंचार्ज वज़ीर) हूँ तो (मौजूदा)डी एम के उन से भी ज़्यादा ख़ूबसूरत हैं।

वज़ीर ने उन्हें बहुत ही ख़ुशगवार और नरम गुफ़तार और मसह बिकती मुंतज़िम बताया. उनकी इस राय पर शायक़ीन ने तालियां गूंज में तारीफ़ की लेकिन समाजवादी पार्टी वर्कर्स को ये बुरा लगा और वो अपने वज़ीर की हरकत पर सबकी महसूस करने लगे। इसी दौरान समाजवादी पार्टी के वर्कर्स ने इस तबसेरा को बेहूदा महसूस किया और उनसे बरसर-ए-आम माफ़ी की ख़ाहिश की।

समाजवादी पार्टी के मैंबर असैंबली रवी दास ने कहा कि पांडे के रवैय्ये से पार्टी और हुकूमत से मुताल्लिक़ अवाम में ग़लत पैग़ाम जाएगा।

TOPPOPULARRECENT