Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / तेलंगाना अवाम को मर्कज़ का एक और धोका

तेलंगाना अवाम को मर्कज़ का एक और धोका

हैदराबाद 28 जनवरी: तेलंगाना के मसले पर मुशावरत जारी रखने ए आई सी सी के जनरल सेक्रेटरी ग़ुलाम नबी आज़ाद के एलान और मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे की तरफ से भी आज शाम एसे ही ख़्यालात के इज़हार को आंध्र प्रदेश की तक़रीबन तमाम अ

हैदराबाद 28 जनवरी: तेलंगाना के मसले पर मुशावरत जारी रखने ए आई सी सी के जनरल सेक्रेटरी ग़ुलाम नबी आज़ाद के एलान और मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे की तरफ से भी आज शाम एसे ही ख़्यालात के इज़हार को आंध्र प्रदेश की तक़रीबन तमाम अप्पोज़ीशन जमातों ने बैक आवाज़ हो कर फ़रेब और धोका दही क़रार दिया है ।

तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले चंद कांग्रेसी क़ाइदीन भी अप्पोज़ीशन के साथ हुकूमत के ख़िलाफ़ तन्क़ीदों में शामिल होगए हैं । लेकिन सीनीयर-ओ-बाअसर कांग्रेस क़ाइदीन बदस्तूर ये कह रहे हैं कि एक मुसबित फ़ैसले के बारे में वो हनूज़ पुरउम्मीद हैं । शिंदे के बयान के बाद कैंप में से किसी भी कांग्रेस लीडर ने आज कोई जारिहाना मौक़िफ़ इख़तियार नहीं किया हालाँके अप्पोज़ीशन क़ाइदीन इंतिहाई जारिहाना अंदाज़ में कांग्रेस को अपनी सख़्त तन्क़ीदों का निशाना बना रहे थे ।

अलहदा तेलंगाना पर मर्कज़ के फ़ैसले के एलान के लिए शिंदे को दी गई एक माह की मोहलत अगरचे कल ख़त्म हो जाएगी लेकिन इस से एक दिन पहले ही उन्हों ने बयान देते हुए फ़ैसले पर ना सिर्फ़ ताख़ीर का इशारा दे दिया बल्के चंद ही घंटों पहले एक और सीनीयर कांग्रेस लीडर और मर्कज़ी वज़ीर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने भी एसे ही ख़्यालात का इज़हार करते हुए उन के बयान की तौसीक़ कर दी जिस से तेलंगाना के हामीयों में अफ़सोस नाउम्मीदी-ओ-मायूसी की लहर दौड़ गई ।

टी आर एस के रुकन एसम्बली टी हरीश राव‌ ने कहा कि ये दरअसल मसला तेलंगाना को मुस्तक़िल तौर पर लेत लाल में डाल देने की एक कोशिश के सिवा-ए-कुछ नहीं है । उन्हों ने मज़ीद कहा कि कांग्रेस ने तेलंगाना के अवाम को फिर एक मर्तबा धोका दिया है । अब हम कांग्रेस के अरकने मुक़न्निना और वुज़रा को निशाना बनाते हुए अपनी तहरीक आगे बढ़ाईंगे । तेलूगु देशम के एक सीनीयर लीडर एम नरसमहलो ने कहा कि आज़ाद और शिंदे के बयानात से सिर्फ़ ये इन्किशाफ़ हुआ है कि कांग्रेस अलहदा तेलंगाना नहीं बनाएगी ।

अवाम उन के बयानात को क़बूल नहीं करेंगे । और इस मसले पर अब मज़ीद मुज़ाकरात की ज़रूरत नहीं है । बी जे पी के रियास्ती सदर जी किशन रेड्डी ने अवाम पर ज़ोर दिया कि वो कांग्रेस का सफ़ाया कर दें । सी पी आई के रियास्ती सेक्रेटरी के नारायणा ने दो कांग्रेस के क़ाइदीन को ख़ुदकुशी के मुतरादिफ़ क़रार दिया ।

नारायणा ने आज़ाद और शिंदे के बयानात को सख़्त मुज़म्मत करते हुए कहा कि उन के दावे दरअसल रियासत की तमाम सयासी जमातों और हती कि सारे रियास्ती इंतिज़ामीया की तौहीन के मुतरादिफ़ हैं । एसा मालूम होता है कि कांग्रेस उस वक़्त तक चैन से नहीं बैठेगी तावक़तीके सारा आंध्र प्रदेश मुकम्मल तौर पर शालों की लीपट में नहीं आजाता ।

उन्हों ने ख़बरदार किया कि एसा टाल मटोल कांग्रेस के लिए तमाम इलाक़ों में मुकम्मल ख़ातमा का सबब बनेगा । कांग्रेस रुकन पार्लीमैंट जी सुखेन्द्र रेड्डी ने शिंदे और आज़ाद के बयानात को बेमानी क़रार दिया और कहा कि फ़ैसले में ताख़ीर करना कांग्रेस के हक़ में बेहतर नहीं होगा ।

रियास्ती वज़ीर पंचायत राज के जाना रेड्डी ने जो कभी तेलंगाना के कट्टर हामी रहे हैं कहा कि नई दिल्ली से ये इशारे मिले हैं कि मसला तेलंगाना पर मज़ीद मुज़ाकरात होसकते हैं । उन्हों ने कहा कि शिंदे और आज़ाद के बयानात में ख़ुलूस-ओ-सदाक़त है और हमें उम्मीद है कि बहुत जल्द तेलंगाना का क़ियाम अमल में आएगा और अवामी उमनगों की तकमील होगी ।

इस मसले के हल की तलाश के लिए सब को मर्कज़ से तआवुन करना चाहीए । जाना रेड्डी ने कहा कि तेलंगाना के कांग्रेस अरकान-ए-पार्लीमैंट अरकान एसम्बली और अरकान क़ानूनसाज़ कौंसिल का एक इजलास बहुत जल्द मुनाक़िद होगा । एक साबिक़ रुकन पार्लीमैंट के कीशोराव‌ जो मसला तेलंगाना पर कांग्रेस अरकान-ए-पार्लीमैंट की बग़ावत की क़ियादत कर रहे थे महिज़ ये कहा कि मसला तेलंगाना पर फ़ैसला फिर एक मर्तबा मुल्तवी किए जाने पर उन्हें अफ़सोस हुआ है ।

TOPPOPULARRECENT