Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / तेलंगाना कारकर्द से मुताल्लिक़ सूरत-ए-हाल वाज़िह नहीं

तेलंगाना कारकर्द से मुताल्लिक़ सूरत-ए-हाल वाज़िह नहीं

कुल हिंद कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी डिग वजय सिंह ने आज तौसीक़ की के रियासती असेंबली को रवाना की जाने वाली तेलंगाना तहरीक के ताल्लुक़ से अभी कोई क़तई फैसला नहीं किया गया है।

कुल हिंद कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी डिग वजय सिंह ने आज तौसीक़ की के रियासती असेंबली को रवाना की जाने वाली तेलंगाना तहरीक के ताल्लुक़ से अभी कोई क़तई फैसला नहीं किया गया है।

अलाहिदा रियासत तेलंगाना की तशकील के लिए ये क़रारदाद भेजी जानी ज़रूरी है। रियासत में कांग्रेस उमूर के निगरान डिग वजय सिंह ने मीडिया से बात चीत करते हुए कहा कि ये मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला की ज़िम्मेदारी हैके वो ये वज़ाहत करे कि तेलंगाना क़रारदाद रियासती असेंबली को किस शक्ल में रवाना की जाएगी।

उन्होंने कहा कि इब्तिदा-ए-में उन्हें जिस तफ़सील से वाक़िफ़ करवाया गया था इस के मुताबिक़ तेलंगाना क़रारदाद पहले सदर जमहूरीया को रवाना की जाने वाली थी जिस के बाद उसे सदर जमहूरीया को रवाना किया जाना था।

डिग वजय् सिंह ने कहा कि एसा लगता हैके अब वज़ीर दाख़िला ने प्रोग्राम में कुछ तबदीली की है इसी लिए उन्होंने मिस्टर सुशील कुमार शिंदे से मुलाक़ात का वक़्त तलब किया है ताकि इस मसले पर वाक़ई जो प्रोग्राम है इस से वाक़फ़ियत हासिल की जा सके।

उन्होंने कहा कि इस ताल्लुक़ से हक़ायक़-ओ-तफ़सीलात मालूम करने के बाद वो मीडिया से दुबारा रुजू होंगे। सीमांध्र अरकान पार्ल्यमंट की तरफ से स्पीकर लोक सभा को दुबारा स्तीफ़े पेश करदिए जाने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि सीमांध्र अरकान पार्ल्यमंट को चाहीए कि वो जल्दबाज़ी में कोई फैसला करने यह मुस्ताफ़ी होने से गुरेज़ करना चाहीए।

उन्होंने याद दहानी करवाई कि सीमांध्र इलाके के क़ाइदीन ने ख़ुद हाईकमान से कहा था कि वो तेलंगाना पर किसी भी फैसले को कुबूल करेंगे।

और चूँकि कांग्रेस क़ियादत ने तेलंगाना की तशकील का अमल शुरू करदिया है इस लिए अरकान पार्ल्यमंट को अपने अह्द पर क़ायम रहना चाहीए।

उन्होंने एक बार फिर इद्दिआ किया कि तेलंगाना की तशकील के बाद सीमांध्र इलाक़ों के अवाम से मुकम्मिल इंसाफ़ किया जाएगा। इलाके के क़ाइदीन बिशमोल वुज़रा अरकान पार्ल्यमंट‍ओ‍असेंबली और ख़ुद चीफ मिनिस्टर को भी चाहीए कि वो अवाम की तशवीश और अनुदेशों को वज़ारती ग्रुप से रुजू करें ताकि उनको हल किया जा सके। उसकी बजाये स्तीफ़े पेश करदेना मसले का हल नहीं है।

TOPPOPULARRECENT