Monday , August 21 2017
Home / Khaas Khabar / तेलंगाना के हर ज़िला में अक़लियती तलबा के लिए अक़ामती स्कूल

तेलंगाना के हर ज़िला में अक़लियती तलबा के लिए अक़ामती स्कूल

हैदराबाद 06 अगस्त:रियासत तेलंगाना में आइन्दा दिनों के दौरान तमाम रेजिडेंशियल स्कूलस ( अक़ामती मदारिस ) एक ही महिकमा के तहत क़ायम करने (कारकरद रहने) के लिए इंतेज़ामात किए जा रहे हैं।

इस के अलावा हर हलक़ा असेंबली के लिए दस, दस अक़ामती मदारिस रहने के लिए इक़दामात किए जाऐंगे और 12 वीं जमात ( इंटरमीडीएट ) तक मुफ़्त तालीम फ़राहम करना हुकूमत तेलंगाना का अहम मक़सद है।

के जीता पी जी मुफ़्त तालीम के मन्सूबे पर एक जायज़ा मीटिंग से ख़िताब करते हुए चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ ने ये बात कही। उन्होंने बताया कि हुकूमत रियासत तेलंगाना के हर ज़िला में अक़लियती तलबा के लिए एक रेजिडेंशियल ( अक़ामती ) स्कूल क़ायम करेगी और साथ ही साथ के जी के बजाये चौथी जमातता इंटरमीडीएट तक मुफ़्त तालीम हुकूमत की तरफ से फ़राहम की जाएगी।

चीफ़ मिनिस्टर ने रियासत में मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात के तहत चलाए जानेवाले अक़ामती मदारिस को एक ही छत तले लाने के लिए मुताल्लिक़ा ओहदेदारों को हिदायात दें और कहा कि रियासत भर में जुमला 1190 रेजिडेंशियल स्कूलस क़ायम करके 12वीं जमात ( इंटरमीडीएट ) तक मुफ़्त तालीम फ़राहम करने के इक़दामात किए जाने चाहीए।

उन्होंने कहा कि फ़िलवक़्त हर एक के लिए मुख़्तलिफ़ तरीका-ए-कार इख़तियार किया जा रहा है।
लिहाज़ा आइन्दा से तमाम तबक़ात के अक़ामती मदारिस के लिए एक तरीके के तहत फ़ंडज़ फ़राहम करके एक ही तर्ज़ की तालीम और रिहायशी सहूलतें फ़राहम की जाएँगी।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि फ़िलवक़्त रियासत तेलंगाना में 668 स्कूलस क़ायम हैं और मज़ीद 522 नए स्कूलस क़ायम किए जाने चाहीए। के चन्द्रशेखर राव‌ ने अक़लियती अक़ामती स्कूलस का तज़किरा करते हुए कहा कि तेलंगाना में अक़लियतों की आबादी ज़्यादा रहने के बावजूद अक़लियती तलबा के लिए मुख़तस करदा हॉस्टलस की तादाद बहुत ही कम है।

रियासत में 3000 से ज़ाइद हॉस्टलस पाए जाने पर अक़लियती तलबा के लिए सिर्फ 21 हॉस्टलस ही पाए जाते हैं जिसकी रोशनी में हुकूमत ने हर ज़िला में एक नया अक़ामती स्कूल ( रेजिडेंशियल स्कूल ) और एक नया हॉस्टल क़ायम करने का फ़ैसला किया है।

चन्द्रशेखर राव‌ ने कहा कि अक़लियती तबक़ा की लड़कीयां कसीर तादाद में इबतिदाई सतह की तालीम हासिल करके स्कूल तर्क कर देती हैं लिहाज़ा उनके लिए ख़ुसूसी इंतेज़ामात करके सहूलतें फ़राहम करने पर वो ( अक़लियती तबक़ा की तालिबात ) भी आला तालीम हासिल कर सकेंगी।

TOPPOPULARRECENT